रीट भर्ती परीक्षा के दौरान पकड़े गये दो आरोपियों ने पुलिस के सामने उगले कई राज

बीकानेर। राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा 2021 (रीट) में नकल कराने वाले गिरोह के दोनों आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को कई राज बताए हैं। दोनों आरोपियों ने पुलिस को बीकानेर में ही गणेशराम ढाका से मिलने और यहां उसने ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पलें देने की जानकारी दी है। वहीं तीन दिन की रिमांड अवधि पूरी होने के बाद किशनगढ़ थाना पुलिस ने दोनों आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजने के आदेश दिए गए। किशनगढ़ थाना पुलिस ने प्रोडक्शन वारंट के जरिए चूरू जिले के राजलदेसर थाना क्षेत्र के जेगणिया बिदावत निवासी मदनलाल जाट (28) एवं बीकानेर के नौखा थाना क्षेत्र एवं हाल भादला निवासी तिलोकचंद शर्मा (27) को गिरफ्तार किया था। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने इनसे तीन दिन तक पूछताछ की। पुलिस पूछताछ में मदनलाल व तिलोकचंद ने बताया कि गिरोह के मास्टर माइंड तुलछाराम जाट ने सीधे गणेशराम ढाका से सीधा सम्पर्क किया था और तुलछाराम से सौदेबाजी तय होने के बाद गणेशराम खुद परीक्षा से दो दिन पहले बीकानेर आया था। गणेशराम के बीकानेर पहुंचने पर तुलछाराम ने ही ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पल की जोड़ी और माइक्रो ईयर फोन गणेशराम को देने के लिए उन्हें (मदन एवं तिलोक) भेजा। यह दोनों यह हवाई चप्पल की जोड़ी स्कूटी पर लेकर गणेशराम के पास पहुंचे और उसे यह चप्पल की जोड़ी दी। इसके बाद गणेशराम ढाका चूरू घर लौट गया। दोनों आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ में यह भी बताया कि परीक्षा में नकल कराने और इसके लिए यह चप्पल सौंपने की सौदेबाजी गणेशराम और तुलछाराम के बीच पहले ही हो चुकी थी। मास्टरमाइंड तुलछाराम जाट की तलाश रीट परीक्षा के दौरान तेली मोहल्ला स्थित आचार्य धर्म सागर स्कूल परीक्षा केंद्र में 26 सितम्बर सुबह परीक्षा में ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पल और काफी छोटे माइक्रो ईयरफोन से नकल करते गणेशराम ढाका को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। प्रारंभिक पूछताछ में उसने तुलछाराम जाट से यह ब्लूटूथ लगी चप्पल खरीदने की बात कबूली थी। फिलहाल चूरू जिले के सांडवा थाना क्षेत्र के सडू छोटी निवासी आरोपी गणेशराम ढाका (28) न्यायिक अभिरक्षा में है। जबकि मुख्य आरोपी तुलछराम जाट से यह चप्पल की जोड़ी लेकर गणेशराम को पहुंचाने के आरोपी मदनलाल एवं तिलोकचंद पकड़े जा चुके हैं। इन्हें भी रिमांड अवधि पूरी होने के बाद पुलिस ने शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए गए। अब प्रकरण में नकल कराने वाले गिरोह एवं ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पलें बेचने के मुख्य आरोपी चूरू जिले के देवानी रामपुरा छापर निवासी तुलछाराम जाट की पुलिस को तलाश है। गणेशराम ने बीकानेर स्थित शिवबावड़ी चौराहा स्थित चाणक्य कोचिंग सेंटर से यह चप्पले लेने की बात पूछताछ में कबूली थी।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp