बेटे की हत्या का बदला लेने के लिए बहनोई को लाठियों-सरियों से इतना पीटा कि हो गई मौत - Khulasa Online

बेटे की हत्या का बदला लेने के लिए बहनोई को लाठियों-सरियों से इतना पीटा कि हो गई मौत

पाली। बेटे की हत्या का बदला लेने के लिए बाप ने अपने बहनोई को लाठियों-सरियों से इतना मारा कि आखिरकार 30 सितम्बर को जोधपुर एम्स अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। उधर मृतक के परिजन गुरुवार शाम को शव लेकर विरोध जताने कलेक्ट्रेट पहुंच रहे थे। इसकी भनक लगते ही पुलिस अलर्ट हो गई। खारड़ा टोल नांके के पास करीब एक घंटे तक उसने समझाइश की। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मामले में मुख्य आरोपी सहित चार लोग गिरफ्तार हो चुके हैं शेष को जल्द ही गिरफ्तार कर लेंगे, तब जाकर वे सिंधियों की ढाणी निवासी 54 वर्षीय फरीद खान का शव लेकर घर जाने को राजी हुए। ऐसे बने रिश्तेदार ही एक-दूसरे के खून के प्यासे दरअसल, फरीद खान व इकबाल खान दोनों रिश्ते में एक दूसरे के साला-बहनोई लगते हैं। फरीद खान का परिवार आनंद नगर में रहता है जबकि इकबाल खान का परिवार सिंधियों की ढाणी में। पारिवारिक रंजिश के चलते 30 अप्रेल 2021 को इकबाल खान का बेटा संजय खान जब घर लौट रहा था तब सिंधियों की ढाणी के निकट उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने इकबाल खान के साले फरीद खान के बेटे सद्दाम को गिरफ्तार किया था जबकि उसके एक नाबालिग रिश्तेदार को निरुद्ध किया था। बीते दिनों फरीद खान का नाबालिग रिश्तेदार जेल से जमानत पर बाहर आया था, तब से इकबाल खान अपने बेटे की मौत का बदला लेने की फिराक में था। पुलिस के मुताबिक इकबाल ने कई बार अपने साले फरीद को जान से मारने की धमकी भी दे रखी थी। 24 सितंबर को फरीद खान पुत्र बरकत खान अपनी इलेक्ट्रॉनिक रिपेयर शॉप बंद कर सिंधियों की ढाणी की तरफ लौट रहा था। इसी दौरान रेलवे फाटक के निकट इकबाल खान और उसके कुछ साथियों ने धात लगाकर हमला बोल दिया। बाइक सवाल फरीद खान नीचे गिर गया जिसके बाद उसे लाठियों से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। वारदात को अंजाम दे आरोपी फरार हो गए। इसके बाद गंभीर हालत में फरीद खान को जोधपुर एम्स में भर्ती कराया गया। जिसकी 30 सितम्बर की सुबह साढ़े 11 बजे मौत हो गई। इस मामले में औद्योगिक थाना पुलिसन ने जानलेवा हमले के दर्ज मामले को हत्या के मामले में दर्ज कर लिया है। पुलिस ने अब तक मामले में इस मामले में मुख्य आरोपी इकबाल सिंधी, तालिब हुसैन पठान पुत्र हुसैन खान, समीर शेख पुत्र शहजाद शेख सहित चार जनों को गिरफ्तार कर कर लिया है। जिन्हें कोर्ट के आदेश पर 28 सिंतबर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा चुका हैं।बहन को छोड़ दूसरी महिला से की लव मेरीज तो साला-बहनोई बने एक-दूसरे के दुश्मन दरअसल फरीद खान व इकबाल खान दोनों एक दूसरे के साला-बहनोई लगते हैं। दोनों ने एक-दूसरे की बहन से शादी कर रखी हैं। लेकिन आनंद नगर निवासी इकबाल खान ने पहली पत्नी फरीद खान की बहन खैरूना खातुन से करने के बाद भटवाड़ा निवासी इन्द्रा भाट से दूसरी शादी कर ली। इस बात से फरीद खान से नाराज था। इकबाल के पहली पत्नी खैरून खातुन से दो बच्चे हैं जबकि दूसरी पत्नी इन्द्रा से एक बेटा संजय खान था। जिसकी शादी भी इकबाल ने सामाजिक रीति रिवाज से मुस्लिम सिंधी समाज में कर रखी थी। संजय खान अपनी मां के साथ आनंद नगर में तथा खैरूना खातुन अपने बच्चों के साथ सिंधियों की ढाणी में अपने भाई फरीद खान के पास रहती थी। ऐसे में दोनों परिवारों के बीच दुश्मनी बढ़ती गई। सामाजिक कार्यक्रम में दोनों परिवारों का आमना-सामना होता तो कई बार तरकार हो जाती। इसके चलते ही 30 अप्रेल 2021 को फरीद के बेटे सद्दाम ने अपने नाबालिग रिश्तेदार के साथ मिलकर संजय खान की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में आरोपी अभी जेल में हैं। उसी का बदला लेने के लिए इकबाल खान ने अपने बहनोई फरीद खान पर 24 सितम्बर को जानलेवा हमला कर दिया। जिससे 30 सितम्बर को जोधपुर में उपचार के दौरान फरीद की मौत हो गई।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp