लडक़ी के शव को दफनाने के मामले तीन ओर पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड - Khulasa Online लडक़ी के शव को दफनाने के मामले तीन ओर पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड - Khulasa Online

लडक़ी के शव को दफनाने के मामले तीन ओर पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

बीकानेर। एक अज्ञात लडक़ी के शव का जल्दबाजी में पोस्टमार्टम करवाने और बाद पुलिस की एसओपी के अपनाए बिना शव दफनाना पुलिसकर्मियों को भारी पड़ गया। जहां एसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए थानाधिकारी चन्द्रजीत सिंह व एएसआई ईश्वर को लाइन हाजिर किया। वहीं इस घटना के दौरान मौके पर गए तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। यह जानकारी एसपी तेजस्वनी गौतम ने दी है। उन्होंने बताया कांस्टेबल गजेन्द्र सिंह, कांस्टेबल जयप्रकाश व चालक महावीर को सस्पेंड किया गया है, जो घटना के दौरान मौके पर गए थे। जानकारी के अनुसार जिस लडक़ी का शव मिला वह महाजन गांव की रहने वाली थी और लूणकरनसर में इसका शव मिला था। पुलिस ने बिना पड़ताल किए ही उसका पोस्टमार्टम करवा दिया और दफना भी दिया। शुक्रवार रात उसका शव फिर से बाहर निकाला गया है और लूणकरनसर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए बीतीरात को एसपी तेजस्वनी गौतम ने लूणकरनसर थानाधिकारी सहित तीन पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। जहां शनिवार सुबह तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने की कार्रवाई की गई है।
पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर्स के खिलाफ होगी विभागीय जांच!
शालू के परिजनों का आरोप है कि पोस्टमार्टम भी सही तरीके से नहीं किया गया है। पोस्टमार्टम की औपचारिकता की गई है क्योंकि शव पर पोस्टमार्टम के निशान नहीं है। इसी कारण अब पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की गई है। परिजनों की इस मांग को देखते हुए उपखण्ड अधिकारी ने पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर के खिलाफ विभागीय जांच हेतु कलेक्टर को पत्र लिखा है।</श्च>
परिजनों ने जताई हत्या की आशंका
परिजनों ने लडक़ी की हत्या की आशंका जताई है। आरोप है कि हत्या कर शव को नहर में फेंका गया है। ऐसे में पूरे मामले की नए सिरे से जांच की मांग की जा रही है। लडक़ी का शव फिलहाल मोर्चरी में है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26