तीन दोस्तों ने एक युवक की हत्या कर उसकी लाश को कार में लेकर घूमते रहे - Khulasa Online

तीन दोस्तों ने एक युवक की हत्या कर उसकी लाश को कार में लेकर घूमते रहे

दौसा। राजस्थान के दौसा जिले में तीन दोस्त एक युवक की हत्या के बाद उसके शव को डिक्की में डालकर घूमते रहे. पुलिस ने शक होने पर जब गाड़ी को रुकवाने की कोशिश की तो वे भाग छूटे. पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर आरोपियों को आखिरकार पकड़ लिया. पुलिस ने जब गाड़ी की तलाशी ली तो उसमें लाश मिली. यह देखकर पुलिस के पैरों तले से जमीन खिसक गई. युवकों के पास 18 लाख रुपये से ज्यादा की नगदी मिली है. पुलिस ने युवकों को सोमवार को पकड़ा है. प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि स्कोर्पियो सवार यह तीनों बदमाश जयपुर के बगरू इलाके से हत्या कर शव लेकर आये थे. वे दौसा जिले में शव को ठिकाने लगाने का प्रयास कर रहे थे. लेकिन इसी दौरान रामगढ़ पचवारा थाना पुलिस की नजर उनकी गाड़ी पर पड़ गई. पुलिस ने उसे रुकवाने का प्रयास किया तो बदमाश उसे लेकर फरार हो गए. पुलिस ने युवकों को सोमवार को पकड़ा है. प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि स्कोर्पियो सवार यह तीनों बदमाश जयपुर के बगरू इलाके से हत्या कर शव लेकर आये थे. वे दौसा जिले में शव को ठिकाने लगाने का प्रयास कर रहे थे. लेकिन इसी दौरान रामगढ़ पचवारा थाना पुलिस की नजर उनकी गाड़ी पर पड़ गई. पुलिस ने उसे रुकवाने का प्रयास किया तो बदमाश उसे लेकर फरार हो गए. इस पर पुलिस ने उनका पीछा किया. पुलिस को पीछे देखकर आरोपी स्पीड में भागे. इसी दौरान उनकी गाड़ी पंक्चर हो गई लेकिन वे नहीं रुके. पुलिस ने कई किलोमीटर तक उनका पीछा किया लेकिन वे हाथ नहीं आए. बाद में नाकाबंदी कर उनको पकड़ा गया. इस पर पुलिस ने उनका पीछा किया. पुलिस को पीछे देखकर आरोपी स्पीड में भागे. इसी दौरान उनकी गाड़ी पंक्चर हो गई लेकिन वे नहीं रुके. पुलिस ने कई किलोमीटर तक उनका पीछा किया लेकिन वे हाथ नहीं आए. बाद में नाकाबंदी कर उनको पकड़ा गया. पुलिस ने आरोपियों को सलेमपुरा के समीप दबोच लिया. पूछताछ में पहले तो तीनों आरोपियों ने अपने आपको स्टूडेंट बताया. बाद में छोडऩे के लिए पुलिस को रिश्वत देने की कोशिश की. लेकिन जब पुलिस ने स्कोर्पियो की तलाशी ली तो उसकी डिक्की में एक युवक की डेड बॉडी मिली. आरोपियों के कब्जे से 18 लाख 46 हजार 500 रुपये भी बरामद हुए. पुलिस ने आरोपियों को सलेमपुरा के समीप दबोच लिया. पूछताछ में पहले तो तीनों आरोपियों ने अपने आपको स्टूडेंट बताया. बाद में छोडऩे के लिए पुलिस को रिश्वत देने की कोशिश की. लेकिन जब पुलिस ने स्कोर्पियो की तलाशी ली तो उसकी डिक्की में एक युवक की डेड बॉडी मिली. आरोपियों के कब्जे से 18 लाख 46 हजार 500 रुपये भी बरामद हुए. डेड बॉडी के बारे में आरोपियों से पूछताछ की गई तो पता चला कि यह शव बगरू इलाके से लाया गया है. वे इसे रामगढ़ पचवारा क्षेत्र में ठिकाने लगाने की जुगत में थे. बाद पुलिस ने बगरू थाना अधिकारी को पूरे मामले की जानकारी दी. जानकारी मिलने के बाद जयपुर की बगरू पुलिस भी दौसा के रामगढ़ पचवारा थाने में पहुंची और तीनों आरोपियों को हिरासत में लिया. डेड बॉडी के बारे में आरोपियों से पूछताछ की गई तो पता चला कि यह शव बगरू इलाके से लाया गया है. वे इसे रामगढ़ पचवारा क्षेत्र में ठिकाने लगाने की जुगत में थे. बाद पुलिस ने बगरू थाना अधिकारी को पूरे मामले की जानकारी दी. जानकारी मिलने के बाद जयपुर की बगरू पुलिस भी दौसा के रामगढ़ पचवारा थाने में पहुंची और तीनों आरोपियों को हिरासत में लिया. जांच में सामने आया है कि कार में जिस युवक का शव मिला है वह दांतारामगढ़ के उमाड़ा निवासी विशाल जाट का है. पुलिस ने इस मामले में महेंद्र जाट नाम के दो और विजेंद्र जाट नाम के एक आरोपी गिरफ्तार किया है. पुलिस इस मामले में रुपयों के लेन-देन को लेकर हत्याकांड मान रही है. परिजनों का आरोप है कि पैसे लूटने के उद्देश्य से 3 दिन पूर्व विशाल को अगवा किया गया था और फिर उसकी हत्या कर दी गई. जांच में सामने आया है कि कार में जिस युवक का शव मिला है वह दांतारामगढ़ के उमाड़ा निवासी विशाल जाट का है. पुलिस ने इस मामले में महेंद्र जाट नाम के दो और विजेंद्र जाट नाम के एक आरोपी गिरफ्तार किया है. पुलिस इस मामले में रुपयों के लेन-देन को लेकर हत्याकांड मान रही है. परिजनों का आरोप है कि पैसे लूटने के उद्देश्य से 3 दिन पूर्व विशाल को अगवा किया गया था और फिर उसकी हत्या कर दी गई.
error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26