बीकानेर के इस अधिकारी पर लगाया उद्यमियों को परेशान करने का आरोप - Khulasa Online

बीकानेर के इस अधिकारी पर लगाया उद्यमियों को परेशान करने का आरोप

बीकानेर। जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया के निर्देशन में एक प्रतिनिधिमंडल जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम से मिला एवं वर्तमान में कृषि उपज मंडी समिति नोखा के क ार्यवाहक सचिव एवं संयुक्त निदेशक कृषि विपणन बीकानेर के विरुद्ध रोष प्रकट करते हुए उद्यमियों को परेशान करने के आरोप लगाते हुए जांच बैठाने बाबत ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया कि राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना 2010 के तहत इकाइयों जिला उद्योग केंद्र बीकानेर द्वारा स्वीकृत म ंडी शुल्क में प्राप्त छूट मिली हुई होने के बावजूद अनुपालना के विपरीत बिना किसी कारण बताओ नोटिस के सचिव, कृषि उपज मंडी समिति, नोखा, बीकानेर द्वारा इकाइयों को परेशान करने के उद्देश्य से नियम विरुद्ध छूट बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया । इकाईयों द्वारा आवेदित प्रार्थना पत्र में नवीन मशीनरी स्थापित कर आधुनिकीकरण हेतु उत्पादन करने के लिए ही छूट प्रदान करने का उद्योग विभाग द्वारा उत्पादन प्रारम्भ करने का आदेश भी पारित किया गया है और कृषि उपज मंडी समिति नोखा द्वारा समस्त नियमों का अवलोकन किया जाकर छूट की पात्रता को ध्यान में रखते हुए सात वर्ष के लिए मंडी शुल्क में 50 प्रतिशत छूट प्रदान करने की स्वीकृति का आदेश भी जारी किया गया था। साथ ही कार्यालय कृषि उपज मंडी समिति नोखा द्वारा आदेश के सम्बन्ध में दी गयी छूट की समीक्षा हेतु जांच करने बाबत रिकोर्ड प्रस्तुत करने का आदेश दिया गया जिस पर इकाईयों द्वारा उक्त आदेश के अनुसरण में समस्त रिकोर्ड प्रस्तुत कर जांच करवाई गयी जिस पर जांच के उपरान्त छूट निरंतर जारी रखने का निर्णय हुआ। जहां एक और सरकार नए नए उद्योगों को लगाने के लिए प्रोत्साहन हेतु छूट देने की नीतियां जारी करती है, वहीं दूसरी और कृषि उपज मंडी समिति नोखा के कार्यवाहक सचिव एवं संयुक्त निदेशक कृषि विपणन बीकानेर द्वारा नियम विरुद्ध कार्यवाही कर पूर्व में ही मंदी की मार झेल रही इकाइयों को तंग किया जा रहा है और इकाइयों को बंद करवाने की चेष्टा की जा रही है जो कि न्यायसंगत नहीं है। प्रतिनिधिमंडल में निर्मल पारख, राजाराम सारडा एवं दिलीप रंगा शामिल हुए।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26