यहां की सड़कों पर इसलिए चलना हो रहा दुभर,देखे विडियो - Khulasa Online

यहां की सड़कों पर इसलिए चलना हो रहा दुभर,देखे विडियो

खुलासा न्यूज,बीकानेर। शहर की सडक़ों पर घूम रहे मवेशी लोगों को घायल कर रहे हैं, लेकिन इनको गोशाला में शिफ्ट नहीं किया जा रहा। पिछले 15 दिनों में आवारा पशुओं ने दो जनों को चोटिल कर दिया। वहीं मंगलवार को एक बार फिर गोपेश्वर बस्ती में ऐसा नजारा देखने को मिला। जब आवारा सांड सड़क पर बेकाबू होकर लड़ते हुए अनेक दुकानों व वाहनों को नुकसान पहुंचा गये। यहां यह पहला अवसर नहीं जब दुर्घटना हुई हों। बड़ी संख्या में मवेशियों के जमा रहने से कई हादसे हो चुके। यही नहीं मवेशियों के आपस में झगडऩे से आस-पास के दुकानदारों की जान सांसत में बनी रहने लग गई। इस बार में क ई बार जिम्मेदारों के सामने आवाज उठाई, लेकिन कोई नहीं सुन रहा। जबकि शहर में लगातार यह समस्या बढ़ती ही जा रही। मवेशियों से सर्वाधिक परेशानी प्रमुख चौराहों और संकरी गलियों में हो रही, जिनमें स्कूली बच्चे आते और जाते इनकी मार से घायल हो रहे। कब हटेंगे सड़कों से शहर में आवारा मवेशियों के कारण आए दिन हो रहे हादसे के बाद इन्हें हटाए जाने की बात अब हर तरफ से उठ रही। लोगों का कहना है कि स्थानीय निगम इसके लिए ठोस योजना बनाएं। जो मवेशी सड़कों पर दौड़ रहे उन्हें गोशाला में शिफ्ट कराएं। लेकिन निगम की ओर से आवारा पशुओं को गौशाला शिफ्ट नहीं किया जा रहा है। शहर में करीब एक से डेढ़ हजार मवेशी शहर में एक हजार से अधिक मवेशी सड़कों पर छोड़े जा रहे। इनमें से कई ऐसे मवेशी भी बताए जिन्हें लोग दूध निकालने के बाद यों ही सड़कों पर छोड़ रहे। दर्जनों लोग हो चुके घायल, कई वाहनों में टूट-फूट आवारा मवेशियों की धमाचौकड़ी और रात के समय सड़कों पर वाहनों की रोशनी में दिखाई नहीं देने के चलते शहर में सैकड़ों लोग घायल हो चुके। लोगों को सबसे ज्यादा नुकसान आवारा मवेशियों की लड़ाई में होता है। शहर में कई क्षेत्र जिनमें कोटगेट,स्टेशन रोड,दम्माणी चौक,जस्सूसर गेट,गोपेश्वर बस्ती,लक्ष्मीनाथ मंदिर के पास,दाऊजी रोड,मोहता चौक,नत्थूसर गेट,मुरलीधर व्यास कॉलोनी,जेएनवी सर्कि ल,फड़बाजार आदि क्षेत्र ऐसे हैं जहां आवारा मवेशियों की लड़ाई होती देख वहां के रहवासी अपने दोपहिया वाहनों तक को हटा लेते हैं। ऐसा इसलिए कि पूर्व में इन मवेशियों की धमाचौकड़ी में कई वाहन क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। बेपरवाह निगम मंजर यह है निगम में बोर्ड चाहे किसी भी पार्टी का रहा हो। बोर्ड के अगवा महज बातें ही करते है। इसके ठोस निस्तारण की कार्ययोजना आज तक किसी ने नहीं बनाई। महापौर और निगम के जिम्मेदार अधिकारी एक दूसरे पर दोषारोपण कर इस गंभीर समस्या की इतिश्री कर लेते है।

https://youtu.be/5LCFSVAYEBE
error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26