हड़ताल का रहा खासा असर,इतने करोड़ के राजस्व की हानि

खुलासा न्यूज,बीकानेर। जिले के सभी डीलरों के द्वारा बायोडीजल, अवैध डीजल, नकली डीजल, बेस ऑयल, पेराफिन एवं अन्य संदिग्ध पेट्रोलियम उत्पादों पर रोक लगाने,राजस्थान राज्य का वेट हरियाणा एवं पंजाब राज्य के समकक्ष करने एवं अन्य कई मांगों को लेकर संयुक्त रूप से अनिश्चितकालीन हड़ताल की गई। जिससे आमजन एवं प्रतियोगी परीक्षाएं जो वर्तमान में चल रही है, के कारण कई परिक्षार्थियों को मुश्किलों का सामना करना। 27 अक्टुबर को आरएएस परीक्षा भी आयोजित होने के कारण परिक्षार्थियों एवं उनके परिजनों में असामंजस्य की स्थिति बनी हुई है।इस के उपरांत भी सरकार किसी प्रकार का संज्ञान नहीं ले रही है। जब तक बायोडीजल की बिक्री पूर्णतया बंद नहीं होगी और वेट जो कि कोरानाकाल में बढ़ाया गया वह वापिस नहीं होगा तथा रोड़ पर सरकार जब तक विचार नहीं करेगी तब तक हड़ताल अनिश्चितकालीन जारी रहेगी। इससे आम जनता को होने वाली परेशानी के लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं। आज की हड़ताल में बीकानेर जिले के समस्त पेट्रोल पंप शत् प्रतिषत बंद रहे और बीकानेर संभाग के हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू व झुंझुंनू तथा जोधपुर संभाग के बाड़मेर, पाली व सांचौर ने भी शत् प्रतिषत बंद किया। जिसके लिए उनका बहुत-बहुत आभार तथा निम्न जिलों के द्वारा ज्ञापन दिए गए -भीलवाड़ा, उदयपुर, राजसमंद, कोटा ने अपने ज्ञापन दिए हैं और इन्होंने भी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए राज्य सरकार को चेताया। कुल आठ जिलों ने शत् प्रतिशत बंद रखा। इस हड़ताल से प्रभावित बिक्री के कारण राज्य सरकार को राजस्व के रूप में कुल 32 करोड़ रूपए राजस्व का नुकसान हुआ। मांगे पूरी न होने एवं प्रशासन की डीलरों के साथ सहमति नहीं बनने तक यह अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp