देश के नए सीडीएस की चयन प्रक्रिया शुरू, रेस में आर्मी चीफ एमएम नरवणे सबसे आगे

नई दिल्ली केंद्र सरकार ने नए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए तीनों सेनाओं से योग्य अधिकारियों की सूची मांगी गई है। इसमें से कुछ अधिकारियों के नाम की सिफारिश जल्द ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सौंपे जाने की संभावना है। पिछले दिनों हेलीकॉप्टर हादसे में जनरल बिपिन रावत के निधन से सीडीएस का पद रिक्त हुआ है। सरकारी सूत्रों ने कहा कि नए सीडीएस का चयन करने के लिए थलसेना, नौसेना और वायुसेना के वरिष्ठ कमांडरों की सदस्यता वाली एक समिति इस प्रक्रिया को अंतिम रूप दे रही है। जल्द ही कुछ नामों की सूची रक्षा मंत्री को सौंपी जाएगी। इसके बाद रक्षा मंत्रालय की सिफारिश पर सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति इस पर अंतिम मुहर लगाएगी। समझा जाता है कि थलसेना प्रमुख जनरल एम.एम. नरवणे के संपूर्ण अनुभव पर विचार करते हुए उन्हें इस शीर्ष पद पर नियुक्त करने की प्रबल संभावना है। वह अगले साल अप्रैल में सेवानिवृत्त होने वाले हैं। वह अभी वरिष्ठतम फोर स्टार जनरल हैं। इसके अलावा वायुसेना प्रमुख एयर मार्शल वी.आर. चौधरी और नौसेना प्रमुख एडमिरल आर. हरि कुमार भी इस दौड़ में शामिल माने जा रहे हैं। इसके साथ ही फोर स्टार जनरल के योग्य अधिकारियों के नामों पर भी विचार किए जाने की संभावना है। इस मामले में सबसे बड़ा सवाल यह भी है कि क्या इस बार भी थलसेना से ही सीडीएस बनाया जाएगा या फिर वायुसेना या नौसेना को तरजीह दी जाएगी। यदि जनरल नरवणे सीडीएस नियुक्त किए जाते हैं तो सरकार को उनके उत्तराधिकारी पर भी विचार करना होगा। सूत्रों के अनुसार, थलसेना के उप्र प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सी.पी. मोहंती और उत्तरी सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाई.के. जोशी थलसेना प्रमुख पद के लिए दौड़ में आगे हैं। लेफ्टिनेंट जनरल मोहंती और लेफ्टिनेंट जनरल जोशी एक ही बैच के हैं और वे जनरल नरवणे के बाद वरिष्ठतम कमांडर हैं। वे दोनों 31 जनवरी को सेवानिवृत्त होने वाले हैं।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp