आटा-साटा में करा रहे थे नाबालिग की शादी, टीम ने रुकवाई

चूरू। चाइल्ड हेल्प लाइन चूरू की टीम ने बुधवार को साहवा में एक युवक की शादी करवाने के लिए नाबालिग भतीजी की करवाई जा रही शादी को रुकवाया और परिजनों को पाबंद किया। सूचना के आधार पर हेल्प लाइन की टीम ने तारानगर एसडीएम व साहवा एसएचओ के सहयोग से परिजनों से समझाइश की। चाइल्ड हेल्प लाइन की जिला समन्वयक रुकैया पठान के अनुसार सूचना मिली कि साहवा में चाचा-भतीजी का विवाह आटा-साटा में हो रहा है, भतीजी नाबालिग है। तारानगर की एसडीएम मोनिका जाखड़, साहवा एसएचओ सुरेश कुमार, एएसआई रामनारायण को बाल विवाह से अवगत करवाया। इसके बाद जिला समन्वयक रुकैया पठान, सदस्य किशन वर्मा, पुलिस बीट अधिकारी जयवीर मौके पर पहुंचे और दस्तावेज की जांच की। जांच में युवक बालिग पाया गया और बालिका नाबालिग मिली। टीम ने शादी के कार्ड में नाबालिग का नाम अंकित होने के बार में परिजनों से पूछताछ की। परिजन ने बताया कि वे पहले बालिका की शादी करना चाहते थे, इसलिए शादी के कार्ड में बालिका का नाम अंकित है, लेकिन अब उन्होंने बालिका की शादी नहीं करने का फैसला लिया और नए कार्ड छपवाए हैं। पुलिस ने बालिका के पिता के बयान दर्ज किए। बयान में बालिका के पिता ने अपने भाई की शादी होना ही बताया है और नाबालिग बेटी की शादी नहीं होना बताया है। टीम व पुलिस अधिकारी ने नाबालिग के पिता, परिवार की महिलाओं व सदस्यों को बाल विवाह नहीं करने की समझाइश की। गांव की साथिन को भी सूचना देकर अवगत करवाया।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp