व्यापारी ने पूरे परिवार को मारकर किया सुसाइड:पत्नी और दो बेटी को पहले जहर खिलाया - Khulasa Online

व्यापारी ने पूरे परिवार को मारकर किया सुसाइड:पत्नी और दो बेटी को पहले जहर खिलाया

जोधपुर। जोधपुर के रातानाडा क्षेत्र में सूर्या ट्विन टावर के एक फ्लैट में शुक्रवार को 4 शव मिलने से सनसनी फैल गई। दिल दहलाने वाली इस घटना में परिवार का मुखिया फंदे पर झूलता मिला, जबकि उसकी पत्नी व दो बच्चों के शव नीचे पड़े मिले। प्रथमदृष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पत्नी, बेटा व बेटी की हत्या करने के बाद पुरुष ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। फिलहाल मौके पर पुलिस व फॉरेंसिक साइंस लैब (स्नस्रु) टीम जांच में जुटी है। सूर्या ट्विन टावर निवासी दीनदयाल अरोड़ा (45), उसकी पत्नी 42 साल की सरोज, 13 साल की बेटी हिरल और 7 साल की बेटी तन्वी अपने फ्लैट में मरे मिले। दीनदयाल की घंटाघर सब्जी मंडी के निकट कपड़े की दुकान है। शुक्रवार को सुबह इनके मकान से बाहर नहीं आने पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। काफी देर तक बाहर नहीं आने पर पड़ोसियों ने 11:30 बजे दीनदयाल के परिवार को आवाज लगाई। एक पड़ोसी ने अंदर का नजारा देखा तो चौंक उठा। अंदर के कमरे में पंखे के हुक से दीनदयाल लटका हुआ था, जबकि दोनों बच्चे व उसकी पत्नी नीचे लेटे हुए थे। मौके पर लगी भीड़ थोड़ी देर में मौके पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। इस बीच सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। एक साथ चार लोगों के मरने की सूचना मिलते ही आला अधिकारी भी वहां पहुंच गए। अंदर की जांच कर रही पुलिस फिलहाल किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है। उनका यह मानना है कि पत्नी व बच्चों को पहले जहरीला पदार्थ खिलाया गया लग रहा है। इसके बाद तीनों का गला दबाकर मारा हुआ लग रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि दीनदयाल ने तीनों को मार आत्महत्या कर ली। अपनी मर्जी से सुसाइड दीनदयाल अरोड़ा ने आत्महत्या करने से पहले अपना सुसाइड नोट लिखा। महज दो लाइनें लिखी हुई हैं। देखने से लग रहा है कि सुसाइड नोट बहुत जल्दी में लिखा गया है। सुसाइड नोट में दीनदयाल ने लिखा कि वह अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा है। पहले खीर बनाई जैसे ही मकान का दरवाजा तोड़ा गया तो दरवाजे के ठीक सामने लॉबी में 3 शव पड़े थे। सरोज हिरल और तन्वी के शुरुआती जानकारी में सामने आया है। परिवार ने पहले खीर बनाई और खीर में जहरीली या नशीली गोलियां मिलाई गईं। सरोज, हिरल और तन्वी बेहोश हो गईं। हिरल और तानवी को तार की मदद से बेहोश होने के बाद गला घोंटा गया। सरोज का गला एक रस्सी से घोंटा गया। सरोज और दीनदयाल के बीच संघर्ष की भी बात सामने आई है। सरोज के शरीर पर चोट के निशान भी हैं। तीनों को मारने के बाद दीनदयाल अंदर एक कमरे में गया और गैस की टंकी पर चढ़कर फंदे से खुद लटक गया। परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर परिवार की आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। परिवार ने फ्लैट लोन पर खरीद रखा था। इसकी किस्त कट रही थी। कोरोना काल के चलते दीनदयाल का व्यापार भी ठीक तरीके से नहीं चल रहा था।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp