बैंक मैनेजर को हनी ट्रेप के जाल में फंसाया, कमरे में बुलाकर आपत्तिजनक वीडियो बनाए - Khulasa Online

बैंक मैनेजर को हनी ट्रेप के जाल में फंसाया, कमरे में बुलाकर आपत्तिजनक वीडियो बनाए

जोधपुर। जोधपुर बैक मैनेजर को हनी ट्रेप मामले में फंसा कर लूटने वाले आरोपी को फलौदी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जिला पुलिस अधीक्षक, जोधपुर ग्रामीण अनिल कयाल ने बताया कि पुलिस थाना फलोदी की टीम ने हन्नीट्रेप व अपहरण कर सामान लूटने के साथ मारपीट करने के मामले में 01 अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। जोधपुर के परिहार नगर निवासी ललित कुमार पुत्र प्रेम सुख सांखला ने भोपालगढ थाने में 13सितम्बर को हनी ट्रेप का मामला दर्ज करवाया। ललित कुमार राजस्थान मरुधरा बैंक शाखा भोपालगढ में बैंक मैनेजर है। रिपोर्ट पेश कर बताया कि 12 सितम्बर को रामदेवरा जाते वक्त कुछ देर के लिये फलोदी रुका था। इससे पहले फलौदी में वॉट्सऐप पर किसी लड़की के मैसेज आते थे व प्रेम जाल में फंसाने की कोशिश की। वह झांसे में आकर फलोदी रुक गया। थोड़ी देर बाद लडकी उसकी गाडी के पास मिली व गाडी मे बैठ कर उसे अज्ञात कमरे मे ले गई । वहां पर चाय पीने के बाद 4 व्यक्ति उस कमरे में प्रवेश कर उसे धमकाते हुए पिस्टल दिखा कर बोले की यहां क्या कर रहे है व जबरदस्ती गलत कार्य करने का बोला। मैनेजर के मना करने पर लड़की स्वयं ने आगे बढते हुए अश्लील कार्य करने की पोजिशन बनाई और अन्य व्यक्ति ने इसका विडियो भी बना दिया और उसे पकड़ कर लड़की को वही रूम में छोड़कर गाडी मे बैठाकर 20-30 किमी कोलू ओरण मे ले गये। जहां पर उसके साथ मारपीट की और विडियो क्लिप के नाम से रूपये मांगने लगे व बारी बारी से मारपीट कर मुझे बोला की 20 लाख रूपये देगा तो छोड देगे, नही तो विडियो क्लिप वायरल कर पुलिस थाना में पोक्सो का केस करवा देगे और मारपीट कर उससे सामान सोने की अंगुठी, पर्स, दो एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड, कार की आरसी, डीएल छीन कर ले लिया और 20 लाख रूपये लाने को कहा। इस रिपोर्ट पर पुलिस थाना फलोदी में मुकदमा दर्ज किया गया। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक फलोदी दीपक शर्मा व वृताधिकारी फलोदी के निकट सुपरविजन में थानाधिकारी राकेश ख्यालिया द्वारा अनुसंधान शुरू किया गया। और सम व जैसलमेर से विकास नाम के व्यक्ति को दस्तयाब कर पूछताछ की तो इस व्यक्ति ने फलोदी में दर्ज इस प्रकरण में अपराधियों के साथ मिलकर अपराध करना स्वीकार किया। जिस पर उक्त आरोपी को गिरफ्तार किया गया। आरोपी वारदात करने के बाद करीब 16 महिने से फरार चल रहा था, आरोपी बदमाश व शातिर प्रवृति का है। इस मामले में शरीक 03 मुलजिमानों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp