थानेदार की सूझबूझ से युवक पर बलात्कार के मामले में नहीं बना

सूरतगढ़। सिटी पुलिस ने हनी ट्रैप के मामले में एक महिला सहित चार जनों को गिरफ्तार किया है। सिटी थानाधिकारी निकेत पारीक ने बताया कि डबलीराठान निवासी राकेश कुमार पुत्र गोपालाराम ने रिपोर्ट दी कि वह व उसका दोस्त महावीर मंगलवार को सूरतगढ़ किसी काम से आए थे। वह तो अपने रिश्तेदार से मिलने चला गया। दोपहर साढ़े बारह बजे महावीर ने फोन किया और हाउसिंग बोर्ड में पानी की टंकी के पास आने के लिए कहा। जहां एक काले रंग की कमीज पहने हुए एक व्यक्ति के साथ में आने की बात कही। महावीर को छोडऩे की एवज में मांगे दो लाख रुपए दोस्त के बताए अनुसार वह उस व्यक्ति के साथ मोटरसाइकिल पर बैठ गया। वह व्यक्ति उसे टिब्बे के पास एक घर में ले गया। जहां रजनी पत्नी प्रकाश मेघवाल, 12 एच पतरोडा निवासी अमनदीप सिंह पुत्र फतेह सिंह, वार्ड एक निवासी देवीलाल पुत्र कृष्ण लाल मेघवाल व एक केएसआर निवासी रणजीत पुत्र सुल्तान मजबी मिले। उन लोगों ने महावीर को बंधक बना रखा था तथा उन्होंने महावीर को छोडऩे की एवज में दो लाख रुपए मांगे। रुपए नहीं देने पर बलात्कार के झूठे मामले में फंसाने की भी धमकी दी। महिला सहित चारों जनों को गिरफ्तार ( थानाधिकारी ने बताया कि राकेश की रिपोर्ट के बाद एसआई करतार सिंह एएसआई धर्मेंद्र सिंह, कांस्टेबल इन्द्रराज, दिनेश और महिला कांस्टेबल शिमला की टीम ने वार्ड एक में स्थित मकान पर दबिश दी। जहां महावीर को मुक्त करवाया तथा इस मामले में रजनी सहित चारों जनों को गिरफ्तार किया गया।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp