ग्रामीण स्तर पर टीबी जागरूकता आवश्यक - Khulasa Online

ग्रामीण स्तर पर टीबी जागरूकता आवश्यक

  1. जिला क्षय निवारण
आज जिला क्षय निवारण केंद्र, बीकानेर की ओर से उपस्वास्थ्य केंद्र, हुसंगसर की विजिट की गयी। पीएमडीटी कोर्डिनेटर रामधन,जिला समन्वयक विक्रम सिंह राजावत व टीबी पर्यवेक्षक कमल सिंगारिया ने उपस्वास्थ्य केंद्र का भ्रमण किया और टीबी के रिकॉर्ड्स का निरीक्षण किया। एएनएम प्रियंका को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की जानकारी दी। पीएमडीडी कोर्डिनेटर रामधन ने एमडीआर टीबी की जानकारी दी। एमडीआर टीबी मरीज़ो के संपर्क में आये लोगो की भी जाँच आवश्यक है। टीबी मरीज़ो को नियमित दवाइयों का सेवन करना चाहिए। टीबी पयर्वेक्षक कमल सिंगारिया ने एएनएम को टीबी ट्रीटमेंट कार्ड भरने की जानकारी दी। टीबी मरीज़ो को वजन अनुसार दवा देना,बलगम जाँच करना व मरीज की पूर्ण सुचना निक्षय पोर्टल पर इन्द्राज करने की जानकारी दी गयी। जिला समन्वयक विक्रम सिंह राजावत ने बताया की ग्रामीण स्तर पर टीबी जागरूकता आवश्यक है।टीबी एक संक्रामक बीमारी है इसलिए इसके प्रति आमजन को जागरूक होना जरुरी है। आमजन को निक्षय पोषण योजना की जानकारी दी जाये। 24 मार्च को मनाया जाने वाला विश्व टीबी दिवस पर ग्रामीण स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम करने हेतु निर्देश दिए गए। जागरूकता हेतु युवाओं को आगे आना होगा। निक्षय दिवस,सामुदायिक बैठक,स्कूल एक्टिविटी के माध्यम से जागरूकता करनी होगी। निक्षय पोषण योजना के अंतर्गत सभी टीबी मरीज़ो को इलाज के दौरान प्रति माह पाँच सौ रुपये मरीज के बैंक खाते में ऑनलाइन दिए जाते है। टीबी की जाँच व इलाज सभी सरकारी चिकत्सालयों में डीटीओ डॉ सी एस मोदी के निर्देशन में निःशुल्क किया जाता है।  
error: Content is protected !!
Join Whatsapp