पत्नी-बेटियों को मारकर फंदे से झूला व्यापारी: शवों पर चीटियां रेंगती मिलीं - Khulasa Online

पत्नी-बेटियों को मारकर फंदे से झूला व्यापारी: शवों पर चीटियां रेंगती मिलीं

जोधपुर के रातानाडा क्षेत्र में शुक्रवार को कपड़ा व्यवसायी ने अपनी पत्नी, दो बेटियों की हत्या कर दी। फिर खुद फांसी के फंदे पर लटक गया। दैनिक भास्कर मौके पर पहुंचा। वहां के हालात भयावह थे। शवों पर चीटियां रेंग रही थीं। बताया जा रहा है कि तीनों को मारने के बाद गुरुवार अल सुबह व्यापारी ने आत्महत्या की है। व्यापारी जिन दुपट्टों का व्यापार करता था, उसी से बेटी का गला घोंटा। मौके पर नींद की गोलियों के खाली पैकेट भी मिले हैं। पुलिस का कहना है कि खाने में नींद की गोलियां दी गईं। किचन के बाहर टेबल पर खीर का प्याला पड़ा होने से यह आशंका जताई जा रही है। दोनों बेटियों के गले में फंदे के निशान हैं। पत्नी के गले पर निशान नहीं है। जांच में सामने आया है कि बेटियों का गला नींद में घोंटा गया है। महिला और दोनों बेटियों की लाश आगे के कमरे में मिली। वहीं, व्यापारी पीछे कमरे में झूलता मिला।

शवों पर रेंग रही थी चीटिंयां

मौके पर 45 साल के दीनदयाल अरोड़ा, 42 वर्षीय सरोज, 14 साल की बेटी हिरल और 7 वर्षीय बेटी तन्वी के शव मिले। व्यापारी की घंटाघर में दुपट्‌टे की दुकान है। घर में पड़े शवों पर चीटिंया रेंग रही थीं। पुलिस के अनुसार रात में ही हत्या हुई है।

बड़ी बेटी ने किया विरोध

व्यापारी की 14 वर्षीय बेटी हिरल अरोड़ा की बॉडी पलंग पर थी। झटपटाहट के कारण बिस्तर बिगड़ने और सिर पर चोट के निशान हैं। पुलिस जांच में सामने आया कि पिता ने पहले मोबाइल चार्जर के तार से बेटी का गला घोंटा। सफल नहीं होने पर एक्सटेंशन कोड लाया। फिर गला घोंट कर मार दिया। पुलिस के मुताबिक व्यापारी ने अपनी छोटी बेटी का गला दुपट्‌टे से घोंटा। बेटी के शव के पास दुपट्‌टा पड़ा था। व्यापारी दुपट्‌टे का ही व्यापार करता था। पत्नी के शव पर गले में कोई निशान नहीं होने से अनुमान यह लगाया जा रहा है कि उसकी मौत नींद की गोलियों से हो गई। मौके से नींद की गोलियों के खाली पैकेट मिले हैं। घर की हालत से यह लग रहा है परिवार बहुत ही सामान्य तरीके से गुजर-बसर कर रहा था।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp