ऑन ड्यूटी टल्ली SHO को SP ने किया सस्पेंड, रेप पीड़िता की FIR में भी बरती लापरवाही - Khulasa Online

ऑन ड्यूटी टल्ली SHO को SP ने किया सस्पेंड, रेप पीड़िता की FIR में भी बरती लापरवाही

नागौर के खुनखुना SHO धर्मपाल मीणा को ऑन ड्यूटी नशे में टल्ली मिलने पर नागौर SP राममूर्ति जोशी ने सस्पेंड कर दिया है। SHO धर्मपाल मीणा के साथ ही HM क्राइम बंशी लाल, हैड कांस्टेबल ओम प्रकाश व CCTNS पर प्रकरण दर्ज करने वाले कम्प्यूटर ऑपरेटर सुरेश को भी सस्पेंड कर दिया गया है। SHO मीणा और दोनों हेड कॉन्स्टेबल सहित कंप्यूटर ऑपरेटर पर इसी थाने में पूर्व SHO शंभूदयाल मीणा के खिलाफ रेप की एक FIR दर्ज करने में गंभीर लापरवाही सामने आई है।

खुनखुना SHO मीणा के शराबी स्वभाव और हर समय ड्यूटी के दौरान थाने में नशे में धुत रहने को लेकर SP जोशी को लगातार शिकायतें मिल रही थी। इस पर डीडवाना ASP विमल सिंह नेहरा के निर्देशन में डीडवाना CO गोमाराम जाट को जांच कर रिपोर्ट सौंपने का जिम्मा दिया गया था। CO जाट एक दिन पहले शनिवार देर रात जब जांच करने खुनखुना पहुंचे तो SHO मीणा उन्हें नशे में टल्ली मिला। वो ऑन ड्यूटी नाकाबंदी में मौजूद था। तुरंत SHO मीणा को हॉस्पिटल ले जाकर मेडिकल करवाया गया। नशे में होने की पुष्टि होते ही CO जाट ने अपनी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को सौंप दी। इसी रिपोर्ट पर अब SP राममूर्ति जोशी ने कार्रवाई करते हुए खुनखुना SHO धर्मपाल मीणा को सस्पेंड करने के आदेश दे दिए हैं।

डीडवाना ASP विमल सिंह नेहरा ने बताया कि नाकाबंदी के दौरान ऑन ड्यूटी शराब के नशे में मिलने पर खुनखुना SHO धर्मपाल मीणा को सस्पेंड करने की कार्रवाई की गई है। SHO मीणा को लेकर शिकायतें मिली थी, इस पर CO से जांच करवाई गई थी।

SP राममूर्ति जोशी ने बताया कि खुनखुना इलाके की एक विवाहिता ने अजमेर रेंज कार्यालय उपस्थित होकर कार्रवाई की गुहार लगाई थी। इस पर रेंज कार्यालय से पर्चा बयान तथा इलेक्ट्रॉनिक्स साक्ष्य के आधार पर FIR दर्ज करने के निर्देश 28 अप्रैल को आए। इसके अगले ही दिन 29 अप्रैल को SP ने पर्चा खुनखुना SHO धर्मपाल मीणा को मामले में FIR दर्ज करने के निर्देश दिए। थाने ने 30 अप्रैल को मामले में FIR दर्ज कर ली।

इस दौरान पीड़िता के साथ दुष्कर्म के संबंध में जो पर्चा बयान अजमेर रेंज कार्यालय में दिए गए थे, FIR में उसका कोई उल्लेख नहीं किया गया था। केवल रेंज कार्यालय के आदेश व SP कार्यालय के आदेश का ही उल्लेख करते हुए FIR को दर्ज कर लिया गया। इसे लापरवाही मानते हुए SHO धर्मपाल मीणा के साथ HM क्राइम बंशी लाल, कार्रवाई लिखने वाले हैड कांस्टेबल ओम प्रकाश व CCTNS पर FIR दर्ज करने वाले कम्प्यूटर ऑपरेटर सुरेश को सस्पेंड कर दिया गया।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp