एसपी साब! दिवाली पर बीकानेर में हर तरफ जुआं, सब जानते हुए पुलिस क्यों है मौन - Khulasa Online

एसपी साब! दिवाली पर बीकानेर में हर तरफ जुआं, सब जानते हुए पुलिस क्यों है मौन

- कुशाल सिंह मेड़तिया की विशेष रिपोर्ट खुलासा न्यूज, बीकानेर। दिवाली पर देश के कई भागों में जुआ खेलने की परम्परा रही है। बीकानेर और विशष रूप से शहर के भीतरी भागों में दीपावली के दिन लोग जुआ खेलते हैं। कई लोगों ने इसको धार्मिक मान्यताओं से जोड़ दिया है उनका मानना हैं कि इस दिन जुआ खेलने से समृद्धि आती है। समृद्धि आए या नहीं आए यह परिवार में क्लेश और विनाश का कारण जरूर बन जाती है। चिंता की बात ये है कि जुआरियों की इस भी में कई यूथ भी शामिल हो जाते हैं जो दीपावली के बाद भी जुआ खेलने की गंदी लत लगा लेते हैं।

शहर में हर तरफ जुआं शहर के भीतरी क्षेत्र में हर तरफ जुआं खेला जा रहा है। दम्माणी चौक, बिन्नाणियों के चौक ,मोहल्ला चूनगरान की ओर जाने वाले रास्ते के बीच में ही बड़ी संख्या जुआरियों का जमघट लगा देखा जा सकता है। जिसमें आदतन जुआरियों के साथ ही युवा भी शामिल हो जाते हैं। इसके अलावा जस्सूसर गेट, नत्थूसर गेट सहित कई एरिया में लोग खुले आम जुआ खेलते देखे जा सकते हैं। नयाशहर थाने से महज पांच-सात सौ मीटर दूरी पर भी जुआरियों की भारी भीड़ देखी जा सकती है। थाने के पीछे नत्थूसर बास से पहले चौक में बड़ी संख्या में जुआरियों का हुजूम लगता है। सिर्फ शहर के भीतरी क्षेत्र में ही नहीं बल्कि कॉलोनियों में भी दीपावली पर जुआ खेलने का सिलसिला चल रहा है। ऐसा नहीं है कि पुलिस को जुआ खेलने के अड्डों के बारे में पता नहीं है। सब कुछ जानते हुए भी पुलिस आखिर मौन क्यों है ?

error: Content is protected !!
Join Whatsapp