11 जून को बीकानेर पहुंचेंगे शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद, शोभासर फांटे से बीकानेर तक जगह-जगह होगा स्वागत, कई जगहों पर होगी पुष्प वर्षा - Khulasa Online 11 जून को बीकानेर पहुंचेंगे शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद, शोभासर फांटे से बीकानेर तक जगह-जगह होगा स्वागत, कई जगहों पर होगी पुष्प वर्षा - Khulasa Online

11 जून को बीकानेर पहुंचेंगे शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद, शोभासर फांटे से बीकानेर तक जगह-जगह होगा स्वागत, कई जगहों पर होगी पुष्प वर्षा

– पुष्करणा स्टेडियम से वाहन यात्रा में पहुंचेंगे जंगलेश्वर महादेव मंदिर

खुलासा न्यूज बीकानेर। जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती 11 जून को दोपहर 4 बजे अनूपगढ़ से होते हुए बीकानेर पहुंचेंगे। शोभासर चौराहे से पुष्करणा स्टेडियम तक जगह-जगह उनका स्वागत िकया जाएगा। इस दौरान कई जगह पर महिलाएं सिर पर कलश धारण किए हुए स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती का अगवानी करेंगी। सनातन धर्म रक्षा मंच के संतोषानंद सरस्वती महाराज ने बताया कि पुष्करणा स्टेडियम से गोपेश्वर बस्ती के जंगलेश्वर महादेव मंदिर तक वाहन यात्रा निकाली जाएगी जिसका जगह-जगह पर पुष्पवर्षा से स्वागत किया जाएगा। 12 जून को सुबह से स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती महाराज की पादुका पूजन का कार्यक्रम होगा। शाम को 4 बजे धर्मसभा और अभिनंदन होगा। 13 को सुबह गो संकल्प पद यात्रा और सुबह 11 बजे से पादुका पूजन होगा। इसी दिन स्वामीजी बीकानेर से झुंझुनूं के लिए प्रस्थान करेंगे।

 

कार्यक्रम के लिए जिम्मेदारियां तय की 

सनातन धर्म रक्षा मंच की बैठक गुरुवार को जंगलेश्वर महादेव मंदिर में हुई। बैठक में तीन दिवसीय आयोजन को लेकर जिम्मेदारियां तय की गई। समाजसेवी किशन मोदी कार्यक्रम की देखरेख करेंगे। कार्यक्रम में आने वाले संतों की व्यवस्था राहुल अग्रवाल, किरण शर्मा, सुमन भाटी, कीर्त्ती भाटी को सौंपी गई है। संतों के स्वागत की जिम्मेदारी पंडित यज्ञ प्रसाद शर्मा, बसंती मनसा रावत, हनुमानमल गहलोत और उनकी टीम को सौंपी। प्रशासन की व्यवस्था पार्षद सुधा आचार्य, ओम सोनगरा, बालाजी स्वामी और उनकी टीम को दी गई है। कार्यक्रम के बैनर और परिचय पत्र की जिम्मेदारी सुरेन्द्र सिह राजपुरोहित और उनकी टीम की रहेगी। प्रचार प्रसार की जिम्मेदारी कम्युनिटी वेलफेयर सोसायटी के कन्हैयालाल भाटी, रजनीश जोशी और मयंक स्वामी की रहेगी। टेंट व्यवस्था पुखराज सोनी, शांतिलाल गहलोत, लक्ष्मी नारायण सुथार और उनकी टीम की रहेगी। परिवहन व्यवस्था दीपक सिंह राजपुरोहित और नाथूराम कच्छावा को सौंप गई है। भागवत कथा में कलश यात्रा की जिम्मेदारी मंजू गोस्वामी और बाला की टीम को सौंपी गई। जगद्गुरु शंकराचार्य के चरण पादू का पूजन की जिम्मेदारी संतोषानंद सरस्वती और पंडित भाईश्री की होगी। दीक्षा समारोह की जिम्मेदारी प्रकाश पारीक, गायत्री प्रसाद शर्मा को दी गई। इसके अलावा भी कई कमेटियां बनाई गई है। पांडाल व्यवस्था, मंच व्यवस्था, नागरिक सुरक्षा व्यवस्था, भोजन व्यवस्था, मंच संचालन, पानी की व्यवस्था कंट्रोल रूम व्यवस्था, बिजली व्यवस्था, यातायात और पार्किंग व्यवस्था, िचकित्सा व्यवस्था के लिए भी अलग-अलग प्रभारी बनाए गए हैं। प्रत्येक प्रभारी के साथ में 15 सदस्यों की टीम रहेगी, जो कार्यक्रम में सहयोग करेगी।

 

5 जून से 11 जून तक होगी भागवत कथा 

जंगलेश्वर महादेव मंदिर में 5 से 11 जून तक श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन होगा। सनातन रक्षा मंच के बैनर तले होने वाले भागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद महाराज के आने से एक िदन पहले तक चलेगा। कथा प्रतिदिन दोपहर 3 से 6 बजे तक चलेगी। इसमें पंडित भाईश्री कथा का वाचन करेंगे। सीताराम सिंह देसलसर इंदर सिंह हियादेसर गिरीराज किराडू सुशील यादव को भी जिम्मेदारियां सौपी।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26