राजस्थान रोडवेज में लागू हो सकता है सातवां वेतनमान, परिवहन मंत्री खाचरियावास ने मांगा प्लान - Khulasa Online

राजस्थान रोडवेज में लागू हो सकता है सातवां वेतनमान, परिवहन मंत्री खाचरियावास ने मांगा प्लान

जयपुर: परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने शुक्रवार को राजस्थान रोडवेज की समीक्षा बैठक ली. समीक्षा बैठक में खाचरियावास ने रोडवेज से जुड़े हर एक पहलू को लेकर प्रेजेंटेशन देखा और सभी तरह की जानकारियां भी ली. परिवहन मंत्री ने इलेक्ट्रिकल बसों को जयपुर लाने में हो रही देरी पर नाराजगी जताते हुए कहा के जिस कारण से भी बसों को लाने में देरी की जा रही है वह सही नहीं है अगर ए जी कार्यालय की बसों की खरीद को लेकर कोई आपत्ति है तो उसे जल्द से जल्द वित्त विभाग के साथ बैठक कर कर सुलझाना चाहिए. मंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रिकल बसों के संचालन के लिए काफी समय पहले केंद्र सरकार से फंड आ चुका है.इसके बाद भी बसों का संचालन नहीं होना ठीक बात नहीं हैं. परिवहन मंत्री ने बैठक में रोडवेज के अधिकारियों को निर्देश दिए कि रोडवेज की सबसे पहली प्राथमिकता कर्मचारियों को समय पर वेतन देने की होनी चाहिए. खाचरियावास ने कहा कि बाकी काम रोडवेज को कर्मचारियों के वेतन देने के बाद प्लान करने चाहिए. सातवें वेतनमान की मांग को मंत्री ने गंभीरता से लिया: परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने रोडवेज के सेवानिवृत्त अधिकारियों के पत्ते और भुगतान को लेकर भी जानकारी ली. मंत्री सेवानिवृत्त अधिकारियों के बकाया एकमुश्त भुगतान के लिए रोडवेज अधिकारियों को जल्द से जल्द वित्त विभाग के साथ बैठक करने के निर्देश दिए हैं इस बैठक में खाचरियावास खुद भी शामिल होंगे. खाचरियावास में बैठक में RTDIF फंड में रोडवेज की हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री को प्रस्ताव भेजने के निर्देश भी दिए हैं, साथ ही रोडवेज से जुड़े कई नीतिगत मसलों को लेकर जल्द ही खाचरियावास ने मुख्यमंत्री के स्तर पर भी बैठक बुलाने के संकेत दिए हैं. रोडवेज के कर्मचारियों की लंबे समय से सातवें वेतनमान की मांग को भी मंत्री ने गंभीरता से लिया है. मंत्री ने रोडवेज अधिकारियों को सातवें वेतनमान में आने वाले अतिरिक्त खर्चे का एस्टीमेट बनाकर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए हैं. 3 महीने के बाद सिंधी कैंप बस स्टैंड का किया जाएगा उद्घाटन : मंत्री खाचरियावास ने समीक्षा बैठक में रोडवेज के घाटे के कारणों का पता लगाने के लिए बनाई गई कमेटी की अभी तक एक भी बैठक नहीं होने पर नाराजगी जताई. आपको बता दें कि रोडवेज में घाटे के कारणों का पता लगाने के लिए परिवहन मंत्री ने जनवरी में एक कमेटी बनाई थी जिसे 3 महीने में मंत्री को रिपोर्ट देनी थी,लेकिन अधिकारियों ने अभी तक इस कमेटी की एक भी बैठक आयोजित नहीं की है. खाचरियावास ने अधिकारियों को इस कमेटी की नियमित बैठक लेकर जल्द रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं. बैठक में परिवहन मंत्री ने सिंधी कैंप बस स्टैंड का बाकी बचा काम 3 महीने में पूरा करने के निर्देश दिए हैं. खाचरियावास ने कहा कि 3 महीने के बाद सिंधी कैंप बस स्टैंड का उद्घाटन किया जाएगा.मंत्री ने प्रदेश भर के बस स्टैंड पर लोगों के लिए मूलभूत सुविधाओं को और बेहतर करने के निर्देश भी रोडवेज अधिकारियों को दिए हैं. रोडवेज प्रदेश की लाइफ लाइन: बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए खाचरियावास ने कहा कि रोडवेज प्रदेश की लाइफ लाइन है जिसे और बेहतर बनाने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है उन्होंने कहा कि डीजल के दाम लगातार बढ़ने के बाद भी रोडवेज का किराया नहीं बढ़ाया गया है. मंत्री ने कहा कि लोगों को और बेहतर सुविधा देने के लिए राजस्थान रोडवेज जल्दी 550 नई बसों की खरीद भी करेगा. मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की अनुमति मिलते ही जल्द ही रोडवेज की ओर से मुफ्त कल से स्पेशल बसों का संचालन फिर से शुरू किया जाएगा. रोडवेज से जुड़े कई मसले ऐसे हैं जिनका निर्णय मुख्यमंत्री के स्तर पर होना है. परिवहन मंत्री खाचरियावास का कहना है कि जल्द ही मुख्यमंत्री के स्तर पर भी रोडवेज की एक बैठक आयोजित कराई जाएगी, जिससे रोडवेज के लंबित मामलों का जल्द से जल्द समाधान हो सके.
error: Content is protected !!
Join Whatsapp