स्व. श्री पुरूषोत्तम भादाणी की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्वाजंलि सभा, रक्तदान शिविर और पौधारोपण किया - Khulasa Online

स्व. श्री पुरूषोत्तम भादाणी की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्वाजंलि सभा, रक्तदान शिविर और पौधारोपण किया

बीकानेर। ज्रक्तदान जीवनदान है। हमारे द्वारा किया गया रक्तदान कई जिंदगियों को बचाता है। इस बात का अहसास हमें तब होता है जब हमारा कोई अपना खून के लिए जिंदगी और मौत के बीच जूझता है। उस वक्त हम नींद से जागते हैं और उसे बचाने के लिए खून के इंतजाम की जद्दोजहद करते हैंज् यह उद्बोधन आज श्री नेहरू शारदा पीठ पीजी महाविद्यालय और कालीचरण गंगादास भादाणी चेरिटेबल ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सेवानिवृत उपायुक्त बिक्रीकर विभाग एवं श्री नागरिक शिक्षा समिति के पूर्व अध्यक्ष स्व. पुरूषोत्तम भादाणी की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धाजंलि सभा एवं स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में रक्तदान शिविर का उद्घाटन करते हुए नगर निगम महापौर श्रीमती सुशीला कंवर ने कही। श्रीमती कंवर ने कहा कि अनायास दुर्घटना या बीमारी का शिकार हममें से कोई भी हो सकता है। आज हम सभी शिक्षित व सभ्य समाज के नागरिक है, जो केवल अपनी नहीं बल्कि दूसरों की भलाई के लिए भी सोचते हैं तो क्यों नहीं हम रक्तदान के पुनीत कार्य में अपना सहयोग प्रदान करें और लोगों को जीवनदान दें। इस मौके पर एडवोकेट पवन भादाणी ने कहा कि शिविर में 50 यूनिट रक्त संग्रहण किया गया। सभी रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्रा दिया। रक्त संग्रह पी.बी.एम. बल्ड बैंक के डॉ. कालुराम मेघवाल एवं टीम द्वारा किया गया। डॉ. प्रशान्त बिस्सा ने स्व. पुरूषोतम भादाणी द्वारा महाविद्यालय हेतु किये गये पुनीत कार्यों के संस्मरण सभी के समक्ष प्रस्तुत किये । किशन लाल सांखला, अजय पुरोहित, दाऊलाल पुरोहित ने भी यादों की शब्दांजलि भेंट की। इस अवसर पर महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. प्रशांत बिस्सा, प्रदीप भादाणी, राजकुमार किराड़ू, नागरिक शिक्षा समिति के अध्यक्ष किशन लाल सांखला, सचिव अजय पुरोहित उपाध्यक्ष डॉ. किशोरी लाल भादाणी, पूर्व सचिव दाऊलाल पुरोहित, संयुक्त सचिव महेश पुरोहित, संजय आचार्य, विष्णुदत्त छंगाणी (नूमहाराज) एड. ओमप्रकाश भादाणी, शंकर लाल आचार्य व.अ. रमेश कुमार भादाणी बी.के. कल्ला मुकेश भादाणी, सुर्यप्रकाश भादाणी,पं. शंकर लाल भादाणी आदि कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। श्रीमती चन्द्रकला भादाणी ने सभी आगुन्तकों का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. समीक्षा व्यास ने किया।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp