रेप पीडि़ता ने थाने में किया आत्मदाह, हुई मौत

जयपुर। राजधानी जयपुर में रविवार को हुई सनसनीखेज घटना में एक रेप पीडि़ता ने वैशाली नगर थाने में खुद को करोसिन डालकर आग लगा ली. आग से गंभीर रूप से झुलसी महिला को सवाई मानसिंह अस्पताल के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया था, जहां सोमवार तड़के उसने दम तोड़ दिया. पीडि़ता रेप के मामले में कार्रवाई नहीं होने से पुलिस से परेशान थी. रेप के बाद बना ली थी अश्लील क्लिप जानकारी के अनुसार घटना रविवार शाम को हुई. पीडि़ता ने करीब एक माह पहले थाने में रेप का मामला दर्ज कराया था. पीडि़ता का आरोप है कि आरोपी ने कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर उसे पिला दिया था. बाद में उससे रेप किया. आरोपी ने इसकी वीडियो क्लिप भी बना ली. उसके बाद वह उस अश्लील क्लिप को वायरल करने की धमकी देकर रेप करने लगा. इस मामले में कार्रवाई को लेकर वह लगातार पुलिस थाने के चक्कर लगा रही थी, लेकिन पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. आग से 80 फीसदी झुलसी पीडि़ता ने तोड़ा दम इससे आहत पीडि़ता रविवार शाम को अपने 15 साल के बेटे के साथ वैशाली नगर थाने पहुंची. वहां उसने खुद को थाना परिसर में करोसिन डालकर आग के हवाले कर दिया. इससे थाने में हड़कंप मच गया. बाद में पुलिसकर्मियों ने बड़ी मुश्किल से आग को बुझाया. आग से पीडि़ता 80 फीसदी झुलस गई. उसे तुरंत एसएमएस अस्पताल के बर्न वार्ड में ले जाया गया. वहां सोमवार तड़के करीब 4:30 बजे महिला की मौत हो गई. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया घटना के बाद एसएमएस अस्पताल पहुंचे एडिशनल डीसीपी (ईस्ट) बजरंग सिंह ने बताया कि पीडि़ता ने 5 जून को वैशाली नगर थाने में अपने परिवार के ही एक व्यक्ति के खिलाफ चार साल से दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था. उसकी जांच सीआई वैशाली नगर संजय गोदारा के पास थी. लेकिन संजय गोदारा द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी नहीं करने से पीडि़ता काफी परेशान हो गई थी. उसके बाद उसने थाने में खुद को आग हवाले कर दिया.
error: Content is protected !!
Join Whatsapp