अभी तक अनुदान को तरस रहीं हैं राजस्थानी फिल्म माँ, मंत्री से मिलें राज  

खुलासा न्यूज, बीकानेर / जयपुर । राजस्थान सरकार द्वारा बनें कला एवं संस्कृति मंत्रालय में राजस्थानी भाषा कला व संस्कृति और फिल्मों को बढावा देने के लिए राजस्थानी फिल्मों को अनुदान देने की सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की भरसक कोशिश के बावजूद भी फिल्मों को अनुदान नहीं मिलना यह विभाग की कमजोर कार्यशैली दर्शाता है । फिल्म निर्माता व अभिनेता राज जाँगिड ने बताया की विगत 2017 को फिल्म माँ प्रदर्शित होने से पूर्व ही अनुदान के लिए सरकार के सारे नियमो का अनुसरण करके फाईल प्रस्तुत की थी जिसका अभी तक भी उस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई और यह राजस्थान की बहुत ही चर्चित फिल्म रहीं थी , क्योंकि पूरे राजस्थान में बाहुबली के सामने लगने वाली एकमात्र फिल्म माँ ही थी । इस फिल्म की खास बात यह भी रही की संदेशप्रद, सामाजिक फिल्म माँ बनकर पहली फिल्म थी जो एशिया के नम्बर वन सिनेमा हाल राजमंदिर में दो सप्ताह तक रोजाना चार शो में चलकर एक इतिहास बनाया था और राजस्थान के कई सिनेमाओं में प्रदर्शित होकर स्कूलों के हजारों बच्चों एवं परिवारों को दिखाई गई । प्रदेश में माँ के प्रति जनजागरण चलाने वाली अपने मात-पिता के करीब लाने वाली फिल्म माँ को आज तक भी अनुदान नहीं मिलना यह सिनेमा व निर्माता का दुर्भाग्य है और इस संदर्भ में कई बार पत्र लिख चूकें हैं पर कोई कार्यवाही नही हुई और ना ही कोई जवाब विभाग की तरफ से आया । राज जाँगिड वो है जो पिछले 40 सालों से हिंदी व राजस्थानी फिल्मों में अभिनय के साथ साथ राजस्थानी सिनेमा को सदैव ऊंचाइयों पर ले जानें का बिडा उठाए हुए है और राजस्थानी फिल्मों का निर्माण करते रहे है । आज जनसुनवाई के दौरान विभाग के मंत्री बी डी कल्ला से मिलकर अपनी बनाई गई फिल्म माँ का प्रीव्यू करने एवं अनुदान देने की मांग को लेकर पत्र सोंपा ।

 
error: Content is protected !!
Join Whatsapp