राजस्थान / युवक-युवतियों को किया जा रहा टॉर्चर, 28 साल की युवती को गंवानी पड़ी अपनी जान - Khulasa Online

राजस्थान / युवक-युवतियों को किया जा रहा टॉर्चर, 28 साल की युवती को गंवानी पड़ी अपनी जान

कोरोनाकाल में बेरोजगारों का ठगने का कारोबार चल पड़ा है। पैसे ठगने के लिए बेरोजगार युवक-युवतियों को इतना टॉर्चर कर रहे है कि उन्हें जान तक गंवानी पड़ रही है। राजस्थान के पाली में शनिवार को 28 साल की एक युवती को इन ठगों ने इतनी प्रताड़ना दी कि उसे खुदकुशी करनी पड़ी। सोशल मीडिया पर इन दिनों घर बैठे रोजगार पाने के कई एड आ रहे हैं। इनमें से ज्यादातर झूठे हैं। पिछले कई दिनों से काम धंधे की तलाश कर रही पाली के रामदेव रोड महात्मा गांधी कॉलोनी की दीपिका गौड़ को सोशल मीडिया पर एड दिखा, जिसमें घर बैठे ऑनलाइन काम के बदले अच्छा वेतन देने की बात कही गई। युवती ने ऑनलाइन डाटा एंट्री का काम शुरू किया। युवती ने दो दिन ही ऑनलाइन काम किया और उसमें वह ऐसी फंसी कि जान चली गई।

डाटा एंट्री में नेट खत्म हुआ तो पति के मोबाइल से कनेक्ट किया इस बीच, शनिवार को डाटा एंट्री के दौरान युवती का इंटरनेट खत्म हो गया। इसलिए उसने अपने पति का हॉटस्पॉट एक्टिव कर वाईफाई से डाटा एंट्री करने लगी। जैसे ही युवती ने पति के फोन ने खुद का फोन जोड़ा, वैसे ही ठगों के फोन आने से शुरू हो गए। उन्होंने कहा कि आपकी वजह से हमारी कंपनी का पूरा सिस्टम क्रेश हो गया है। आप किसी अन्य सर्वर से कैसे जोड़ सकती है? युवती काफी डर गई। माफी मांगी। कहा, आगे से ऐसा नहीं होगा। इस पर ठगों ने कहा कि आपके कारण कंपनी का सॉफ्टेवयर क्रेस हो गया। 19 जून की शाम तक 6500 रुपए जमा कराओ। अन्यथा आपको जेल जाना पड़ सकता है। इसके अलावा लिगल नोटिस मिलेगा तो दो-तीन लाख रुपए तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। इसके बाद पूरे दिन फोन आते रहे।

ठगों ने युवती के मोबाइल से निजी जानकारी भी चुरा ली ठगों ने युवती के मोबाइल के सारे एक्सेस ले लिए थे। ऐसे में युवती के सभी परिचितों के नंबर और निजी फोटो तक चले गए। बदमाशों ने युवती की चेट भी स्कैन कर ली। ठगों ने इस आधार पर युवती को धमकाना शुरू कर दिया। युवती इस घटना से इतनी घबरा गई कि फांसी लगाकर आत्महत्या कर दी। परिजनों के इस आरोप का पुलिस जांच में जुटी है। इंस्टाग्राम पर ऑनलाइन एंट्री का झांसा दिया था

शहर के रामदेव रोड महात्मा गांधी कॉलोनी में 28 वर्षीय दीपिका गौड़ पत्नी रामगोपाल गौड़ रहती है। कुछ दिनों पूर्व उसके इस्टाग्राम पर ऑनलाइन डाटा एंट्री का एड देखा था। उसने भी आवेदन किया। 40 रुपए प्रति एंट्री देना तय हुआ। उसने 183 एंट्री भी पूरी कर ली। मोबाइल डाटा कम पड़ने पर उसने पति के मोबाइल से वाई-फाई लेकर काम किया था। मेल पर आया नोटिस, धमकियां दीं कंपनी से उसके मेल पर एक नोटिस मेल किया। लिखा, आपने दूसरे मोबाइल का नेटवर्क यूज किया है। इसलिए आपकी आईडी ब्लॉक की जाती है तथा आगे काम जारी रखने के लिए 19 की शाम तक 6500 रुपए का जुर्माना ऑनलाइन जमा करवाए। ऐसा नहीं करने पर आपको वकील के जरिए घर तक नोटिस भेजा जाएगा। इस पर आपको जेल भी हो सकती है तथा जुर्माना राशि भी देनी होगी। युवती के मोबाइल पर बाद में कई कॉल आए। युवक ने स्वयं को कंपनी का एडवोकेट बताते हुए उक्त राशि जमा करवाने की बात भी कही। दो-तीन कॉल आने से विवाहिता काफी घबरा गई।

रुपए के लिए भाई को लगाया कॉल युवती कॉल आने से काफी घबरा गई। उसने अपने भाई विनोद गौड़ को कॉल कर साढ़े छह हजार रुपए मांगे। इस पर उसने अपने जीजा रामगोपाल से पूछा कि आपको रुपए क्यों चाहिए? घर से दीदी का कॉल आ है। इस पर रामगोपाल ने पत्नी दीपिका से बात की तो उसने सारी कहानी बताई। रामगोपाल ने उस नंबर पर कॉलकर बात की और यह भी कहा कि उसकी पत्नी अभी मानसिक रूप से बीमार हैं, उसे तंग न करें। जो भी बात हैं मुझसे करें। रामगोपाल का आरोप है उसके बाद भी उस नंबर से उसकी पत्नी के मोबाइल पर कॉल हुआ। इससे वह काफी घबरा गई तथा आत्महत्या कर ली। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp