दिवाली के लिए रेलवे ने की तैयारियां तेज, प्रशासन ने 54 ट्रेनों में बढ़ाए 74 कोच

जयपुर: कल से नवरात्रि पर्व शुरू हो रहा है और इसके बाद सबसे बड़ा त्यौहार दीपावली है. दिवाली पर्व पर हर कोई अपने घर पहुंचना चाहता है. दिवाली के लिए टिकट बुकिंग बहुत पहले से शुरू हो चुकी है और ज्यादातर शहरों की ट्रेनों में सीटें फुल हो चुकी हैं. ऐसे में अब रेलवे प्रशासन त्यौहार स्पेशल ट्रेनें चलाकर या फिर ट्रेनों में कोच बढ़ाकर यात्रियों को घर पहुंचाने के प्रयासों में जुट गया है.

नवंबर की शुरुआत में दिवाली का त्यौहार है. इसे लेकर एक तरफ जहां बाजारों में त्यौहार का माहौल दिखने लगा है. वहीं रेलवे इसकी तैयारियों में जुट गया है. ट्रेनों में बड़ी संख्या में अस्थाई कोच की बढ़ोतरी की जा रही है. 15 अक्टूबर तक जयपुर से लंबी दूरी के आधा दर्जन शहरों के लिए त्यौहार स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जाएगा. वहीं जयपुर से अजमेर, कोटा, जोधपुर, सीकर आदि छोटी दूरी की ट्रेनें भी संचालित की जाएंगी. इसे लेकर रेलवे महाप्रबंधक विजय शर्मा चारों रेल मंडलों के डीआरएम के साथ लगातार बैठकें कर रहे हैं. रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण ने बताया कि जयपुर, अजमेर, बीकानेर और जोधपुर मंडलों के अलग अलग रूटों पर संचालित हो रही 54 ट्रेनों में साधारण, स्लीपर और थर्ड एसी श्रेणी के 74 कोच बढ़ाए गए हैं.

ये कोच नवंबर के अंत तक के लिए इन ट्रेनों में जोड़े गए हैं, जिससे यात्रियों को नवरात्रि, दीपावली और छठ पूजा के लिए पर्याप्त संख्या में सीटें मिल सकें. कोच बढ़ोतरी से इन ट्रेनों में करीब 5328 सीटें अतिरिक्त उपलब्ध हो सकेंगी. जो यात्रियों के वेटिंग टिकट को कंफर्म और नए टिकटों को सीट उपलब्ध कराने में सहायक होंगी. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे दिवाली की भीड़ को देखते हुए कोरोना गाइडलाइंस की पालना करते हुए कुछ ट्रेनों में साधारण टिकट से यात्रा किए जाने की अनुमति पर भी विचार कर रहा है. हालांकि यह सुविधा त्यौहार से तीन-चार दिन पहले ही दी जाएगी. जो त्यौहार होने के दो से तीन दिन बाद तक लागू रहेगी.

दिवाली दूर, ट्रेनें अभी से फुल - कानपुर, लखनऊ जाने वाली मरुधर एक्सप्रेस में लम्बी वेटिंग - इस ट्रेन में सैकंड सिटिंग क्लास में वेटिंग टिकट भी नहीं मिल पा रहे - ट्रेन में नो रूम की स्थिति, टिकट बुकिंग हुई बंद - कोलकाता, भोपाल, नागपुर, उज्जैन, सूरत, मुंबई, वाराणसी, अहमदाबाद की ट्रेनों में वेटिंग - इन ट्रेनों में स्लीपर और थर्ड एसी में 100 से भी अधिक वेटिंग चल रही

रेलवे प्रशासन ने छोटी दूरी के लिए अतिरिक्त ट्रेनें करेगी संचालित  रेलवे प्रशासन ने छोटी दूरी के लिए कुछ अतिरिक्त ट्रेनें संचालित करने का भी निर्णय लिया है. जिससे कि लंबी दूरी की ट्रेनों में कम दूरी के यात्रियों की ज्यादा भीड़ नहीं बढ़े. जयपुर से हैदराबाद, चेन्नई, मुंबई, पुणे, वाराणसी, पटना सहित  करीब छह लंबे रूट पर ट्रेनें 15 अक्टूबर तक संचालित होने लगेंगी. ये ट्रेनें दिवाली से पहले और उसके बाद तक संचालित की जाएंगी. अधिकांश ट्रेनें सप्ताह में एक, दो या तीन दिन संचालित की जाएंगी. ट्रेन जब एक फेरे से लौटकर दूसरे फेरे के लिए जाएगी. तो उसमें दो दिन का अंतराल होगा. ऐसे में खाली खड़े इन रैक को जयपुर से अजमेर, सवाईमाधोपुर, जोधपुर, कोटा, बांदीकुई, अलवर, रेवाड़ी, सीकर सहित अन्य छोटी दूरी के लिए संचालित किया जाएगा. ताकि इन छोटी दूरी के यात्रियों को भी त्यौहार पर सुविधाजनक तरीके से अपने घर पहुंचाया जा सके. कुलमिलाकर दिवाली पर यात्रियों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए रेलवे कोई कसर छोड़ने के मूड़ में नहीं है. हालांकि देखना यह होगा कि रेलवे प्रशासन के ये प्रयास कितने सफल हो पाते हैं.

error: Content is protected !!
Join Whatsapp