संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी:औपचारिकता बाकी,इतने दिन का लग सकता है लॉकडाउन - Khulasa Online

संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी:औपचारिकता बाकी,इतने दिन का लग सकता है लॉकडाउन

 

जयपुर। प्रदेश में गहलोत सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है जिसके बाद सरकार कोरोना की चैन तोडऩे के लिए अंतिम विकल्प के रूप में संपूर्ण लॉकडाउन जैसा कड़ा फैसला लेने की तैयारी में है। माना जा रहा है कि आज देर रात से प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। सूत्रों की माने तो इस दौरान शनिवार से 14 दिन का लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इस दौरान आमजन को सामान खरीदने का मौका मिल सकता है। फल,सब्जी,दूध,किराना सहित सभी दुकानों को बंद किया जा सकता है। साथ ही आमजन को बीएलओ,जिला प्रशासन की ओर से गठित दलों की ओर से आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने की व्यवस्था की जा सकती है। इतना ही नहीं मजदूरों के पलायन को रोकने की कवायद की जाएगी। मजदूरों को खाना पहुंचाने की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की जाने की सिफारिश की गई है। शहर से गांवों के आवागमन पर भी लग सकती है रोक।इसको लेकर शाम को सीएम अशोक गहलोत अंतिम फैसला लेंगे। हालांकि संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला सरकार 5 सदस्यीय मंत्रिमंडल समूह की रिपोर्ट के बाद ही लेगी। मंत्री समूह की रिपोर्ट पर अब सभी की निगाहें लगी हुई हैं। हालांकि पूर्व में विशेषज्ञों के बार-बार संपूर्ण लॉकडाउन के सुझावों को दरकिनार करते आ रही थी, लेकिन इस बार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के संपूर्ण लॉकडाउन की मांग पर गहलोत सरकार में लॉकडाउन को लेकर हलचल तेज हुई है। शाम 6 बजे तक अपनी रिपोर्ट देगा मंत्री समूह विश्वस्त सूत्रों की माने तो मंत्री डॉक्टर बी डी कल्ला, रघु शर्मा, गोविंद सिंह डोटासरा, शांति धारीवाल और सुभाष गर्ग वाले मंत्री समूह आज शाम 6 बजे तक संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपेगा। उसके बाद ही सरकार प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला लेगी। वही मंत्री समूह की आज दिन भर बैठकों का दौर चलेगा। मंत्री समूह वर्चुअल तौर पर अधिकारियों और विशेषज्ञों से लगातार संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर सुझाव लेंगे और संपूर्ण लॉकडाउन लागू होने के बाद क्या परिस्थितियां बनेंगी उसके भी सुझाव अधिकारियों और विशेषज्ञों से लेंगे और उसके बाद संपूर्ण लॉकडाउन पर अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री गहलोत को सौंपेंगे। दो मंत्री हैं संपूर्ण लॉकडाउन के पक्ष में सूत्रों की माने तो मंत्री समूह के 5 सदस्यों में से 2 सदस्य संपूर्ण लॉकडाउन के पक्ष में है। हालांकि 3 सदस्य आज अधिकारियों और विशेषज्ञों से चर्चा करने के बाद अपनी राय रखेंगे। गौरतलब है कि बुधवार को देर शाम मुख्यमंत्री गहलोत के आवास पर हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में लॉकडाउन को लेकर पांच सदस्यीय मंत्रियों के एक समूह का गठन किया गया था जिसे संपूर्ण लॉकडाउन पर सुझाव लेकर रिपोर्ट देने को कहा गया है। राहुल गांधी के सुझाव पर हो रहा अमल वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के संपूर्ण लॉकडाउन के सुझाव पर अब गहलोत सरकार में अमल हो होता दिख रहा है, कैबिनेट और मंत्रिपरिषद की बैठक में राहुल गांधी के सुझाव पर चर्चा हुई थी। हालांकि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश भर में संपूर्ण लॉकडाउन की मांग की थी, लेकिन राज्य में कांग्रेस की सरकार होने के चलते राहुल गांधी के सुझावों पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। 14 दिन के लिए लागू हो सकता है संपूर्ण लॉकडाउन बताया जाता है कि कोरोना की चैन तोडऩे के लिए सरकार प्रदेश में एक पखवाड़े तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की तैयारी में हैं। पू्र्व में विशेषज्ञों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को 14 दिनों का संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया था। नई गाइड लाइन आज हो सकती है जारी वहीं मंत्री समूह की रिपोर्ट के बाद सरकार जहां आज देर रात तक सरकार संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर फैसला ले सकती है। इसी के चलते संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान लागू होने वाली नई गाइडलाइन भी जारी की जा सकती है। नई गाइडलाइन को लेकर गृह विभाग तैयारियों में जुट गया है। आवश्यक सेवाओं को छोड़ सब कुछ लॉक अगर आज रात गहलोत सरकार प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला ले लेती है तो नई गाइडलाइन के तहत प्रदेश में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रखा जाएगा। आवश्यक सेवाओं में पुलिस, अस्पताल, पैरामेडिकल स्टाफ. मेडिकल, आवश्यक सेवा में लगे सरकारी कार्मिक कुछ छूट मिल सकती है। शादी-विवाहों पर रोक वहीं माना जा रहा है कि आज रात संभावित नई गाइड लाइन में शादियों पर रोक लगाने की भी घोषणा हो सकती है, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बार-बार लोगों से शादी समारोह टालने की अपील करते नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि प्रदेश में अभी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा लागू हैं।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp