गैस सिलेंडर पर 200 रुपए सब्सिडी जारी करने की संभावना

श्रीगंगानगर। एलपीजी गैस उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिलने जा रही है। संभावना है कि केंद्र सरकार एक बार फिर से रसोई गैस की सब्सिडी देने जा रही है। इससे खाना बनाने की कीमत घट जाएगी। श्रीगंगानगर एलपीजी फैडरेशन अध्यक्ष पंकज नागपाल ने बताया कि प्रत्येक राज्य में अलग-अलग सब्सिडी मिलती है। एलपीजी गैस उपभोक्ता घर बैठे मिलने वाली सब्सिडी की राशि चेक कर सकते हैं। उपभोक्ता संबंधित गैस एजेंसी से ही सिलेंडर लें तथा अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर व बैंक खाता अपडेट करवाएं ताकि उन्हें सब्सिडी मिल सके। उन्होंने बताया कि संभावना है कि सरकार की ओर से घरेलू गैस सिलेंडर पर 200 रुपए सब्सिडी जारी की जाएगी। सब्सिडी से जुड़ी जानकारी इस तरह से हासिल कर सकेंगे सब्सिडी से जुड़ी जानकारी के लिए एलपीजी उपभोक्ता ईएलपीजी डॉट इन ओपन करें। अब उन्हें स्क्रीन के दाईं तरफ गैस कंपनियों के गैस सिलेंडर की फोटो नजर आएगी। यहां अपने सर्विस प्रोवाइडर के गैस सिलेंडर की फोटो पर क्लिक करें। इसके बाद स्क्रीन पर एक नया विंडो ओपन हो जाएगा जो गैस सर्विस प्रोवाइडर का होगा। अब सबसे ऊपर दाईं तरफ साइन-इन और न्यू यूजर के ऑप्शन टैप करें। अगर गैस उपभोक्ता ने पहले से यहां अपनी आईडी बना रखी है तो साइन-इन करें। अगर उनकी आईडी नहीं है तो न्यू यूजर पर टैप कर वेबसाइट पर लॉगइन करें। अब उनके सामने विंडो ओपन होगा उसमें दाईं तरफ व्यू सिलेंडर बुकिंग हिस्ट्री पर टैप कर दें। यहां उन्हें यह जानकारी मिलेगी कि किस सिलेंडर पर कितनी सब्सिडी दी गई है और कब दी गई है। इसके साथ ही, यदि गैस बुक की है और सब्सिडी का पैसा नहीं मिला है तो फीडबैक वाले बटन पर क्लिक करें। गैस उपभोक्ता सब्सिडी का पैसा न मिलने की शिकायत भी दर्ज करवा सकते हैं। इसके साथ-साथ उपभोक्ता टोल फ्री नंबर 18002333555 पर कॉल कर इसकी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। वर्तमान में घरेलू गैस सिलेंडर पर दी जा रही है 9.45 रुपए की सब्सिडी वर्तमान में घरेलू गैस सिलेंडर पर 9.45 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है। संभावना है कि 1 दिसंबर को सरकार नए आदेश जारी कर देगी। इसके बाद उपभोक्ताओं को यह सिलेंडर 733 रुपए में उपलब्ध हो सकेगा। नागपाल ने बताया कि उन्होंने उपभोक्ताओं को जागरूक करते हुए आह्वान किया है कि वे सिलेंडर अपने पंजीकृत गैस कनेक्शन की कॉपी के जरिए ही भरवाएं ताकि उपभोक्ताओं को सुचारू रूप से सब्सिडी मिलती रहे।
error: Content is protected !!