फेसबुक के जरिये दोस्ती कर ब्लैकमेल करने वाली महिला चढ़ी पुलिस के हत्थे - Khulasa Online

फेसबुक के जरिये दोस्ती कर ब्लैकमेल करने वाली महिला चढ़ी पुलिस के हत्थे

बीकानेर। सोशल मीडिया पर पता नहीं चलता कौन महिला या कौन पुरुष है और कौन कैसा है बस सोशल मीडिया पर दोस्ती की और शुरु हो जाती है बातचीत यही बातचीत कभी कभी नुकसान दे देती है। ऐसा ही एक मामले में जनप्रतिनिधि को भुगतन पड़ा। जानकारी के अनुसार श्रीडूंगरगढ़ के एक जनप्रतिनिधि को भारी पड़ गया। उसने न सिर्फ दबाव डालकर ढाई लाख रुपए ले लिए बल्कि पचास लाख रुपए और देने की डिमांड भी कर डाली। परेशान जनप्रतिनिधि ने हिम्मत दिखाई और पुलिस को सूचना दी। जसरासर पुलिस ने इस मामले में अब महिला को गिरफ्तार कर लिया। पिछले दिनों जसरासर थाने में इस युवक ने एफआईआर दर्ज करवाई कि वो जसरासर का जन प्रतिनिधि है, ऐसे में सोशल मीडिया पर भी सक्रिय रहता है। समाजसेवी के रूप में सोशल पोस्ट अपलोड करता रहता है। इसी दौरान सोशल मिडिया पर ऋतु चौधरी उर्फ रेंवती नाम की लडक़ी ने मेरे से जान पहचान बढ़ा ली। फिर बात करने लगी। इस लडक़ी ने दिसम्बर 2021 से अब तक कई बार रुपए भी लिए। अब तक सवा दो लाख रुपए वापिस लौटाने की कहकर लिए। अब दबाव बनाकर बलात्कार के झूठे मुकदमा मे फंसाने की धमकी देकर और रुपए की डिमांड कर रही है। इस दौरान पुलिस ने अपना अनुसंधान शुरू कर दिया। दस्तावेजी साक्ष्य संकलन किया गया व परिवादी द्वारा ब्लैक मैलिग की डिमाण्ड के सम्बन्ध में 50 लाख रूपये की मांग की गई। इसके बाद पुलिस सक्रिय हो गई।​​​​ब्लैक मैल करने वाली महिला से ब्लैक मैलिग डिमाण्ड भी प्रमाणित हुई। इस पर रेंवती उर्फ ऋतु चौधरी पुत्री रामकिशन गोदारा जाति जाट उम्र 25 साल निवासी बेनीसर पुलिस थाना श्रीडूंगरगढ से 10 लाख रुपए की फिरौती राशि सहित गिरफ्तार किया गया। ब्लैक मैलिंग करने वाली गैग में शामिल अन्य सदस्यों के बारे मे पता लगाया जा रहा है। इस मामले को पकडऩे वालों में बीछवाल थानाधिकारी मनोज शर्मा, जसरासर के थानाधिकारी एसआई देवीलाल, देशनोक थानाधिकारी संजय सिंह सहित करीब एक दर्जन पुलिस कर्मी थे। तीन थानों की पुलिस ने काफी मशक्कत करके एफआईआर के महज दो दिन में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। महिला पुलिस भी इसमें शामिल रही।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp