पेट्रोल-डीजल के दाम फिर से बढ़ेंगे, अगले सप्ताह इतना महंगा होगा, कच्चा तेल 115 डॉलर पार - Khulasa Online

पेट्रोल-डीजल के दाम फिर से बढ़ेंगे, अगले सप्ताह इतना महंगा होगा, कच्चा तेल 115 डॉलर पार

नईदिल्ली. रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से ग्‍लोबल मार्केट में कच्चे तेल ब्रेंट क्रुड के दाम गुरुवार को 115 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गए। ऐसे में आने वाले दिनों में भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ना लगभग तय है। पिछले 120 दिनों से देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है, जबकि कच्चे तेल की कीमत करीब 70 प्रतिशत बढ़ चुकी है। रोज होगी थोड़ी-थोड़ी बढ़ोतरी भारत में पेट्रोल.डीजल की कीमतों और चुनावी मोहलत का ट्रेंड बताता है कि मोदी सरकार विधानसभा चुनावों से ठीक पहले पेट्रोल.डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से बचती रही है। हालांकि चुनाव खत्म होते ही वह कीमतों को बढ़ाने में देर नहीं करती। अभी देश में उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे है। इसके नतीजे 10 मार्च को आएंगे। इसी वजह से अगले हफ्ते से दाम बढ़ने के अनुमान लगाए जा रहे हैं। विश्लेषण यह भी कहता है कि पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी एक बार में न होकर रोज थोड़ी.थोड़ी होगी। 20-25 रुपए तक बढ़ सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम प्प्थ्स् सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने कहा, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 115 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गई है। वहीं तेल कंपनियों ने 3 नवंबर से पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है, लेकिन तब से लेकर अब तक कच्चा तेल 40 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा महंगा हो चुका है। इसलिए पेट्रोल.डीजल की कीमतों में 20.25 रुपए तक की बढ़ोतरी हो सकती है। रेटिंग एजेंसी इक्रा के वाइस प्रेसिडेंट और को-ग्रुप हेड प्रशांत वशिष्ठ के मुताबिक, कच्चा तेल 1 डॉलर प्रति बैरल महंगा होने पर देश में पेट्रोल-डीजल के दाम औसतन 55.60 पैसे प्रति लीटर बढ़ जाते हैं। तेल कंपनियों को 5.6 रुपए प्रति लीटर का घाटा डब्ग् पर क्रूड ऑयल का मार्च वायदा गुरुवार को 4: से ज्यादा बढ़कर 8600 रुपए ;करीब 113 डॉलरद्ध प्रति बैरल को पार कर गया। क्रुड 8495 112.21 डॉलर पर खुला और इसने 8677 रुपए 114.62 का हाई बनाया। दिसंबर 2021 में क्रुड का औसत मूल्य 73 डॉलर के करीब था, तब तेल कंपनियों को 8.10 रुपए प्रति लीटर का अतिरिक्त मुनाफ ा हो रहा था। कच्चे तेल के दाम चढ़ने से सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों. इंडियन ऑयल कॉरपोरेशनए भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम को पेट्रोल-डीजल पर 5.6 रुपए प्रति लीटर का घाटा उठाना पड़ रहा है। क्रूड के दाम लगातार बढ़ने से कंपनियों का घाटा भी लगातार बढ़ रहा है। एक्सपर्ट क्रुड ऑयल के 150 डॉलर तक पहुंचने का अनुमान लगा रहे हैं।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp