ओलंपिक: अब राजस्थान की बेटी भावना जाट से पदक की उम्मीद - Khulasa Online

ओलंपिक: अब राजस्थान की बेटी भावना जाट से पदक की उम्मीद

टोक्यो। टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाडिय़ों का मिला-जुला प्रदर्शन जारी है। इस बीच आज राजस्थान की बेटी भावना जाट महिला 20 किलोमीटर वॉक के फाइनल मुकाबले में अपनी दावेदारी पेश करने उतरेंगी। इस स्पर्धा का फाइनल मुकाबला आज भारतीय समयानुसार दोपहर 1 बजे होगा। लिहाज़ा ओलंपिक में पदक जीतकर देश का नाम रोशन करने से भावना अब बस चंद कदम दूरी पर हैं। राजसमंद जिले के छोटे से काबरा गांव निवासी भावना जाट के आज के प्रदर्शन को लेकर न सिर्फ उनके परिवार या गांव के लोगों में उत्सुकता है बल्कि पूरे देश की निगाहें उनके पदक हासिल करने को लेकर उम्मीद लगाए हुए है। गौरतलब है कि भावना ने स्पोट्र्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (साई) के बेंगलुरु स्थित प्रशिक्षण केंद्र पर तैयारी की थी। 30 जून को वह टोक्यो के लिए रवाना हुई थीं। प्रतियोगिता में जाने से पहले भावना ने कहा था कि वह पहली बार सबसे बड़ी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने जा रही हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि वह देशवासियों की उम्मीद पर खरा उतरेंगी। ओलंपिक में चयन के साथ ही बनाया था नेशनल रिकॉर्ड रांची में आयोजित सीनियर चैपियनशिप प्रतियोगिता में भावना जाट ने 20 किलोमीटर पैदल चाल को 1 घंटा 29 मिनिट 54 सेकंड में पूरी कर ओलंपिक 2021 में अपनी जगह निश्चित की थी। यही नहीं, इस अवधि में पैदल चाल पूर्ण कर राष्ट्र स्तर के रिकॉर्ड 1 घंटा 31 मिनिट को अपने नाम कर दिया। काबरा की कई बेटियां भावना के नक्शे कदम पर बढ़ रहीं आगे काबरा गांव की बेटियां स्लो रेस में पूरे जिले में आगे हैं। भावना के बाद यहां की कई बेटियों ने राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए पदक जीते हैं। इन खिलाडिय़ों में खेल का जज्बा पैदा करने वाले शारीरिक शिक्षक हीरालाल कुमावत ने बताया कि वर्ष 2008 से ही यहां की भावना जाट सहित सोनल सुखवाल, रानी सुखवाल, कविता शर्मा, गीता लौहार, पूजा जाट, वर्षा सुखवाल आदि ने राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर तक की प्रतियोगिता में अपना कौशल दिखाते हुए पदक जीते है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp