अब एफआईआर कॉपी लेने के लिए नहीं काटने पड़ेंगें थानों के चक्कर - Khulasa Online

अब एफआईआर कॉपी लेने के लिए नहीं काटने पड़ेंगें थानों के चक्कर

बीकानेर। एफआईआर होने के बाद अक्सर देखा गया है कि वादी को कई बार एफआईआर की हार्ड कॉपी लेने के लिए अक्सर थाने के चक्कर काटने पड़ते हैं। कभी पता चलता है कि साहब नहीं हैं, तो साइन नहीं हो पाए और कभी कोई और कारण बता कर वादी को टाल दिया जाता है। जिससे अक्सर पीडि़त पक्ष को अनावश्यक परेशानी उठानी पड़ती है। अब ऐसा नहीं होगा। राजस्थान पुलिस कुछ ऐसा करने जा रही है कि नागरिकों को एफआईआर की कॉपी के लिए चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। नई व्यवस्था शीघ्र ही प्रदेश के पुलिस थानों में दर्ज होने वाली एफआईआर के लिए अब चक्कर नहीं निकालने पड़ेंगे। पुलिस मुख्यालय अब शीघ्र नई व्यवस्था शुरू करने जा रहा है। इसमें परिवादियों को अबएसएमएस के माध्यम से एफआईआर मिल जाएगी। इसके लिए पुलिस महकमे में बड़े स्तर पर तकनीकी टीम काम कर रही है। गौरतलब है कि थाने में एफआईआर दर्ज होने के बाद परिवादी को एफआईआर की कॉपी लेने के लिए अधिकारियों का इंतजार करना पड़ता है। कई बार अधिकारी थाने में मौजूद नहीं होने से हस्ताक्षर नहीं हो पाते, तब परिवादी को फिर नापड़ता है, जिससे परिवादी बेवजह परेशान होता है। अब होगा यह परिवादी एफआईआर कराने के दौरान जो मोबाइल नंबर देगा, उस नंबर पर एसएमएस के माध्यम से एक लिंक मिलेगा। इस लिंक पर क्लिक करने से एफआईआर मोबाइल पर खुल जाएगी। आप आसानी से अपने विधिक कार्य का संपादन करवा सकते हैं। इसमें पीडि़त का समय भी कम लगेगा और उसे कई बार थानों के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ेंगे। सीसीटीएनएस से होगा काम
error: Content is protected !!
Join Whatsapp