राजू फौजी को अपनी गैंग में लाना चाहता था कुख्यात बदमाश लॉरेंस

  खुलासा न्यूज़ । दो कॉन्स्टेबल की हत्या के बाद राजू फौजी अपराध की दुनिया में तेजी से उभरा था। वह कुख्यात बदमाश लॉरेंस की नजरों में चढ़ गया था। लॉरेंस फौजी को मारवाड़-गोड़वाड़ की बागड़ोर सौंपना चाहता था। यहीं कारण था कि तीन महीने पहले सेड़वा में पंजाब के गैंगस्टर और लॉरेंस के गुर्गों ने फौजी को साथ में काम करने का ऑफर दिया। दरअसल, राजू फौजी ने दो कॉन्स्टेबल की हत्या करने के बाद पंजाब व हरियाणा फरारी काटी। यहां अपने पुराने शराब तस्करों के कॉन्टैक्ट में आया। इन्हीं में से कुछ तस्करों का कॉन्टैक्ट लॉरेंस गैंग से भी था। इधर, लॉरेंस को मारवाड़ व गोडवाड़ में अपनी गैंग के लिए एक लीडर की जरूरत थी। इसी के चलते उसने राजू फौजी को गैंग में शामिल होने का ऑफर दिया था। बताया जा रहा था कि फौजी ने लॉरेंस गैंग के गुर्गों को विचार करने के लिए कुछ समय मांगा था। राजू फौजी ने जोधपुर के गैंगस्टर कैलाश मांजू को मारने की 80 लाख रुपए की सुपारी ली थी। इस डील की खबर जोधपुर जेल में बंद लॉरेंस को मिलने के बाद उसे पूरा विश्वास हो गया था कि मारवाड़ व गोडवाड़ में अवैध वसूली व अन्य अपराधों के लिए फौजी से बढ़िया कोई नहीं होगा। क्योंकि जोधपुर में कैलाश मांजू और लॉरेंस गैंग के बीच ठनी थी। लॉरेंस नहीं चाहता था कि जोधपुर में उसका दबदबा कम हो। इन दोनों के बीच इस बार डील होनी थी। इससे पहले ही फौजी पकड़ा गया।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp