बीकानेर : कलेक्टर साहब आपके एसडीएम की देखिए असली तस्वीर

- , फिर सरपंचों की जगह बैठक में आए सरपंच प्रतिनिधि पहले एक साधारण सभा की बैठक में सरपंचों व पंचायत समिति सदस्यों की जगह उनके प्रतिनिधि सभा मे आये । इसके बाद विकास अधिकारी ने समिति के बाहर यह नोटिश चस्पा करवा दिया कि जो जनप्रतिनिधि है सिर्फ वही बैठक में आये लेकिन इस बार विकास अधिकारी के उस आदेश की कुछ सरपंच प्रतिनिधियों ने धज्जियां उड़ाते हुवे बैठक में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई ओर सिर्फ उपस्थित ही नही रहे बल्कि उपखंड अधिकारी तहसीलदार व विकास अधिकारी सहित अधिकारियों कर्मचारियों से सवाल जवाब भी करते दिखाई दिए। उपखंड अधिकारी ने एक बार भी उनसे यह नही पूछा कि आप किस हैसियत से सदन में बेठ कर सवाल कर रहे हैं। यहां तक कि प्रधान प्रतिनिधि भवँरलाल गोरछिया भी सदन में मौजूद रहे। नत्थूसर सरपंच के पिता घेवरचंद सियाग, सांईसर सरपंच प्रतिनिधि राजाराम भादू की बहस तो देखने लायक रही। रासीसर से सरपंच प्रतिनिधि के रूप में भेरूलाल मंडा, देसलसर से सरपंच प्रतिनिधि अमराराम चौधरी, आदि सरपंच प्रतिनिधि सभा मे बिना किसी पद के मौजूद रहे ख़ुलासा न्यूज़ , बीकानेर । पांचू पंचायत समिति की साधारण सभा की बैठक में दिन भर सिर्फ बिजली पानी के मुद्दे ही छाये रहे। पंचायत समिति की साधारण सभा प्रधान मुन्नीदेवी गोरछिया की अध्यक्षता में हुई। सभा मे नोखा विधायक बिहारीलाल बिश्नोई भी पहुंचे। बैठक की शुरुआत गत बैठक के पठन व समीक्षा के साथ शुरू हुई। बैठक शुरू होते ही जनप्रतिनिधियों ने आरोप लगा दिया कि बैठक में जब तक सक्षम अधिकारी नही पहुचंते है तब तक बैठक का क्या औचित्य है हम अपनी समस्या किसे सुनाएं। पंचायत समिति सदस्य एडवोकेट ओमप्रकाश शर्मा ने तो यहां तक कह दिया कि बैठक की तारीख अधिकारियों से पूछ कर तय कर लिया करो कि उन्हें टाइम कब मिलता है। सभा मे पांचू सरपंच जेठाराम गोदारा ने कहा कि पांचू पंचायत में पिछले छः माह से पांच ट्यूबवेल बना कर तैयार किये हैं विभाग को भी हेंडओवर कर दिए पर विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण उनका आज तक विद्युत कनेक्शन नही हुवा। पांचू सरपंच ने कहा कि पांचू पंचायत में पर्याप्त आबादी भूमि नही है क्योंकि गांव लगभग 300हेक्टेयर में बसा हुवा है और आबादी है सिर्फ 80 हेक्टेयर इसलिए आबादी विस्तार की प्रक्रिया के लिए उन्हें दो सक्षम पटवारी चाहिए सरपंच ने आरोप लगाया कि एक पटवारी तो दिन भी शराब के नशे में रहता है ऐसे में काम कौन करेगा। भादला सरपंच गिरधारी प्रजापत ने कहा कि उनके गांव में 1999 में पानी की टंकी बनी थी जो कि आज तारीख तक नकारा पड़ी है उस टंकी में एक दिन भी पानी नही भरा गया सरकार का लाखों रुपया फालतू बर्बाद हो गया और आज वो टंकी जर्जर अवस्था मे पहुंच गयी है अब उस जर्जर टंकी से बड़े हादसे का खतरा भी बन गया है। कुदसु सरपंच राजाराम भादू ने चिकित्सा विभाग पर आरोप लगाते हुवे कहा कि जननी सुरक्षा योजना में कुदसु अस्पताल का छः माह से भुगतान बकाया पड़ा है। भादू ने कहा सरकारी महकमो का यह हाल है कि उनके गांव में ट्यूबवेल सिर्फ एक स्विच बोर्ड नही होने के कारण पांच माह तक बन्द पड़ा रहा आखिर में बात जब अधिशासी अभियंता तक पहुंची तब जाकर पांच माह बाद वो स्विच बोर्ड लगा और ट्यूबवेल चालू हुवा। एक स्विच बोर्ड में पांच माह लगा दिए उस विभाग से क्या उम्मीद रखें। जेगला सरपंच मनोहरलाल बिश्नोई ने कहा कि उनकी पंचायत में एक ट्यूबवेल गत आठ माह से बंद पड़ा है जलदाय विभाग आंख तक नही खोल रहा। जिला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह बीदावत ने कहा कि कक्कू के रैगरों के मोहल्ले में लाइन शिफ्टिंग नही कर रहे जबकि शिफ्टिंग के पैसे विधायक कोटे से जमा हो चुके हैं विभाग के पास विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही है वहां घरों के ऊपर से गुजर रही लाइन से कभी भी बड़ा हादसा घटित हो सकता है। बीदावत ने कहा जिला परिषद में भी यह मुद्दा उठाया था। बैठक में यह मुद्दा भी खूब चर्चा में रहा कि सेकड़ो लोगों के बिना बिजली कनेक्शन ही विभाग द्वारा बिल भेजा जा रहा है यहां तक कि कई लोगों के तो कनेक्शन नही है पर दूसरा बिल भी आ गया है वो भी पलेंटि जुड़ कर, अब वो लोग हैरान परेशान है। पंचायत समिति सदस्य परमेश्वर गोदारा ने कहा कि टाटा आई जी बीमा कंपनी द्वारा किसानों से बीमे का प्रीमियम तो ले लिया गया है परंतु फसलों के खराब होने का मुवावजा कंपनी द्वारा किसानों को नही दिया जा रहा है। बैठक में झोलाछाप डॉक्टरों का मुद्दा भी खासा चर्चा ने रहा साथ ही सदस्यों का यह भी आरोप रहा कि गांवों में ए एन एम का पद नही होने के कारण झोलाछाप डॉक्टरों की चांदी हो रखी है। आगजनी की घटनाओं में कई बार बकरियां गाय भैंस जैसे पशु जिन्दा जल जाते हैं जिनका किसानो को कोई खास मुवावजा नही मिलता यह मुद्दा भी काफी हावी रहा। पांचू से कक्कू सड़क पर साइडों में लोगों ने अतिक्रमण कर रखे हैं जिन्हें हटाने की मांग भूपेंद्र सिंह बीदावत ने उठाई। पांचू सरपंच ने कहा कि पांचू में थाने के पास चौराहे पर लोगों ने सड़क की जमीन पर होटल व और ढाबे बना कर अतिक्रमण कर रखा है जिसे सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा हटाया नही जा रहा।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp