भीमसेन चौधरी राजकीय महाविद्यालय में प्रतिभा सम्मान समारोह में 200 से अधिक प्रतिभाओं को किया सम्मानित - Khulasa Online भीमसेन चौधरी राजकीय महाविद्यालय में प्रतिभा सम्मान समारोह में 200 से अधिक प्रतिभाओं को किया सम्मानित - Khulasa Online

भीमसेन चौधरी राजकीय महाविद्यालय में प्रतिभा सम्मान समारोह में 200 से अधिक प्रतिभाओं को किया सम्मानित

*लूणकरणसर शिक्षा के क्षेत्र में तरक्की के पथ परः बेनीवाल

खुलासा न्यूज लोकेश बोहरा संवादाता लूणकरणसर । शिक्षा के क्षेत्र में तरक्की के पथ पर आगे बढ़ रहा है। इस धरती पर भीमसेन चौधरी जैसे कर्तव्यनिष्ठ जनप्रतिनिधि ने जन्म लिया, जिन्होंने सत्तर के दशक में भी गांव-गांव शिक्षा की अलख जगाई, जिसका नतीजा है कि आज यहां की पीढ़ी भारतीय प्रशासनिक सेवा तक में अपना चयन करवाकर मातृभूमि का नाम रोशन कर रही है। यह बात हम सभी के लिए गर्व की अनुभूति करवाने वाली है। यह बात पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने शनिवार को भीमसेन चौधरी राजकीय महाविद्यालय लूणकरणसर में आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही।

पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने कहा कि आज का विकासशील और शिक्षित लूणकरणसर आप और हम सब के बुजुर्गों की कड़ी मेहनत और सतर्कता की देन है। उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि हमारी युवा पीढ़ी हर क्षेत्र में लोहा मनवा रही है। शिक्षा का प्रसार अच्छा हुआ है, नतीजन लूणकरणसर का ऐसा गांव नहीं है जहां सरकारी नौकरी नहीं हो। हमारा युवा तरक्की के पथ आगे बढ़ते हुए सरकारी नौकरी, निजी क्षेत्र, खेल और तो और उद्योग और उन्नत कृषि के मामले में भी अपने गांव-अपने क्षेत्र का नाम रोशन कर रहा है।

वीरेन्द्र बेनीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लूणकरणसर विधानसभा क्षेत्र पर विशेष कृपा रखी। महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय से लेकर यहां पहले कॉलेज की स्वीकृति प्रदान करना और फिर जननेता भीमसेन चौधरी के नाम राजकीय महाविद्यालय का नामकरण करने की स्वीकृति देना, जैसे कार्य अविस्मरणीय रहेंगे।

बीकानेर पंचायत समिति के प्रधान लालचंद आसोपा ने कहा कि लूणकरणसर क्षेत्र में सर्वागीण विकास रूपी वटवृक्ष पौधा पवित्रमना भीमसेन चौधरी ने विकसित किया था, उसे पोषित करने का काम उनके सुपुत्र पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल निरंतर कर रहे हैं।

लूणकरणसर पंचायत समिति के पूर्व प्रधान गोविन्दराम गोदारा ने कहा कि मरूधरा के गांधी भीमसेन चौधरी ने धोरां धरती के विकास पर जीवन समर्पित कर दिया। उनके द्वारा लाई गई कंवरसेन लिफ्ट नहर, उरमूल डेयरी की स्थापना और सुुदुरवर्ती गांवों में सरकारी विद्यालयों की स्थापना और उपखण्ड मुख्यालय पर जनसहयोग से छात्रावास का निर्माण करवाना दूरदर्शी सोच का परिणाम थी, जिसके सफलता के मायने आज सभी के सामने है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए लूणकरणसर के उपखण्ड अधिकारी संजीव कुमार वर्मा ने कहा कि लूणकरणसर क्षेत्र में युवा पीढ़ी ने शिक्षा के क्षेत्र में उतरोत्तर प्रगति की है।

लूणकरणसर के वृताधिकारी पुलिस नोपाराम भाखर ने कहा कि गांवों में शिक्षा और खेल क्षेत्र में युवा प्रतिभाओं ने पूरे विश्व में नाम कमाया है। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर मैडल जितने वाले खिलाड़ियों को सरकारी क्षेत्र में आगे बढ़ने का अच्छा मौका है। उन्होंने बालिका शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि हमें हमारी बेटियों को प्रतिभावान बनाने में कोई कसर नहीं छोड़नी चाहिए।

कार्यक्रम को सरपंच एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष राजाराम झोरड़, शिक्षाविद् मदनलाल भादू, निदेशक कृषि प्रसार डॉ. सुभाष बलवदा, प्रो. सुभाष गोस्वामी, डॉ. प्रिंयका बेनीवाल, पूर्व बीडीओ मूलाराम मांझू व मंडल अध्यक्ष भंवरलाल सारस्वत, मदरसा बोर्ड के सह संयोजक जिला देहात बीकानेर सद्दाम कुरैशी ने भी संबोधित किया। इस मौके पर केन्द्र एवं राज्य सरकार की सेवाओं तथा सैन्य सेवाओं में चयनित होने वाले अभ्यर्थियों तथा खेलकूद में मैडल लाने वाले प्रतिभवान खिलाड़ियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

प्रतिभा सम्मान समारोह में लूणकरणसर पंचायत समिति के पूर्व प्रधान श्योदानाराम नायक, तहसीलदार अशोक गोरा, नायब तहसीलदार ममता, मदनसिंह यादव, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष भंवरराम पड़िहार,, लूणकरणसर ग्राम पंचायत के सरपंच गणेश मेघवाल, जिला परिषद सदस्य पूनमचंद ओझा व क्रमय विक्रय सहकारी समिति लूणकरणसर के अध्यक्ष मूलाराम कलकल सहित विभिन्न गांवों से आए जनप्रतिनिधि, गणमान्यजन, समाजसेवी व ग्रामीण मौजूद रहे।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26