मौसम विभाग की बड़ी चेतावानी कल इन जिलों को हो सकती है ओलों की बारिश

जयपुर। राजस्थान में मंगलवार से एक नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा, जिसके प्रभाव से प्रदेश में बारिश और ओलावृष्टि होगी। इस विक्षोभ का असर पूरे राजस्थान में होगा। पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, जोधपुर संभाग के अलावा जयपुर, अजमेर संभाग के कुछ इलाकों में बारिश के साथ-साथ ओले भी गिर सकते हैं। मौसम विभाग ने इस सिस्टम का असर 7 जनवरी तक बने रहने की संभावना जताई है। 5 जनवरी को इस सिस्टम का सबसे ज्यादा असर रहेगा। हल्के बादल छाने लगेंगे जयपुर मौसम केन्द्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि पाकिस्तान क्षेत्र से आ रहे इस सिस्टम का सबसे पहले असर सीमावर्ती जिलों जैसलमेर, बीकानेर, गंगानगर में देखने को मिलेगा। संभावना है कि सोमवार देर शाम या रात से इन जिलों में हल्के बादल छाने लगेंगे। 4 जनवरी को पश्चिमी राजस्थान में कहीं-कहीं हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है। 5 जनवरी से इस सिस्टम का सबसे ज्यादा असर देखने को मिलेगा। इससे आधे से ज्यादा राजस्थान में बारिश और कहीं-कहीं ओले गिर सकते हैं। इस सिस्टम का असर उदयपुर संभाग में थोड़ा कम देखने को मिलेगा। प्रदेश में सोमवार को अधिकांश जगह धूप निकली, लेकिन लोगों को तेज सर्दी से राहत नहीं मिली। जयपुर में सुबह से हल्की गति से सर्द हवाएं चल रही हैं। जयपुर में सोमवार को न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। सबसे कम तापमान फतेहपुर में 2.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। चुरू, करौली में आज न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज हुआ। धान खाद्यान्न को भीगने से बचाने की सलाह मौसम विभाग ने मावठ, ओले गिरने की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी किया है। मौसम केन्द्र जयपुर ने अजमेर, बीकानेर, जयपुर व भरतपुर संभाग के जिलों की मंडियो में धान को भीगने से बचाने की सलाह दी है। इसके अलावा रवि की फसलों में सिंचाई और किसी भी प्रकार का रासायनिक छिड़काव कुछ समय के लिए रोकने को कहा है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp