उदयपुर में कन्हैया हत्याकांड: पुलिस ने 170 किमी पीछा कर हत्यारों का पकड़ा, एनआइए की टीम मौके पर पहुंची - Khulasa Online

उदयपुर में कन्हैया हत्याकांड: पुलिस ने 170 किमी पीछा कर हत्यारों का पकड़ा, एनआइए की टीम मौके पर पहुंची

बीकानेर. राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल का बुधवार दोपहर अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहर में कर्फ्यू के बाद उनकी अंतिम यात्रा में भारी भीड़ जुटी। लोगों ने हत्यारों को फांसी दो फ ांसी दो के नारे लगाए। पूरा शहर कन्हैया की हत्या के विरोध में बंद रहा। किसी भी हालात से निपटने के लिए भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किया गया था। इससे पहले पोस्टमार्टम के बाद जब उनका शव घर ले जाया गयाए तो घर में कोहराम मच गया। बिलखती पत्नी ने कहा कि हत्यारों को फ ांसी की सजा दी जाए, नहीं तो ये लोग कई लोगों को मारेंगे। पुलिस ने मंगलवार को दोनों आरोपियों गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार को राजसमंद से अरेस्ट किया। इनके अलावा 3 अन्य लोगों को भी पुलिस ने पकड़ा है। दोनों हत्यारों के खिलाफ अनलॉफुल एक्टविटी एक्ट समेत आईपीसी की कई धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दोपहर में कानून व्यवस्था की समीक्षा के लिए आला अफ सरों के साथ मीटिंग की। शाम को उन्होंने सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है। इसमें सभी दलों के नेता शामिल होंगे। इस मीटिंग में भी सीएम संभवतरू कानून-व्यवस्था को लेकर ही बातचीत करेंगे। उदयपुर में तालिबानी तरीके से टेलर की हत्या करने वाले आरोपी गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार 170 किमी दूर राजसमंद जिले के भीम इलाके से पकड़े गए। इन हत्यारों के पकड़े जाने का घटनाक्रम भी नाटकीय रहा। दोनों ने भागने की पूरी कोशिश कीए लेकिन आखिरकार पुलिस के बिछाए जाल में फंस गए। हत्यारों के पकड़े जाने का एक वीडियो ऊपर फोटो पर टैप कर वीडियो देखें भी सामने आया है। आरोपियों के हत्थे चढ़ते ही पुलिस ने उन्हें जमकर पीटा। जानिए कैसे पकड़े गए हत्यारे हत्याकांड के बाद उदयपुर और आसपास की पुलिस सक्रिय हो गई थी। ​राजसमंद पुलिस को जानकारी मिली थी कि दोनों आरोपी भीम.देवगढ़ इलाके की तरफ बाइक से भागे हैं। इस पर इनकी लोकेशन ट्रेस की गई। नेशनल हाईवे.8 पर भीम में बने डाक बंगले के बाहर नाकाबंदी की गई। यहां पुलिस को देखते ही दोनों भीम कस्बे में घुस गए थे। मोटरसाइकिल सवार आरोपी कस्बे में होकर भाग निकले और बदनौर चौराहा होते हुए कॉलेज के सामने हाईवे पर आ गए। यहां से अजमेर की तरफ जाने लगे। इस पर भीम.देवगढ़ पुलिस ने आरोपियों का पीछा करते हुए जस्सा खेड़ा के पहले शाम साढ़े 6 बजे आड़ावाला मोड़ पर दोनों को धर दबोचा।। बाइक पर उदयपुर से राजसमंद पहुंचे दोनों के राजसमंद के पास होने का इनपुट मिलते ही राजसमंद उदयपुर से बाइक पर हेलमेट लगाकर खुद निकले और राजसमंद के भीम.देवगढ़ इलाके में पहुंचे थे। उदयपुर और आसपास के जिलों की पुलिस वारदात के बाद से ही एक्टिव थी। इन इलाकों में कड़ी नाकाबंदी की गई। पुलिस की दस टीमें आरोपियों का पीछा कर रही थी। इस दौरान गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार पुलिस को देखकर भागने लगे तो दोनों को सड़क पर ही दबोच लिया गया। पुलिस ने दोनों को सड़क पर ही लात.घूंसों और डंडों से जमकर पीटा। फि र बाल पकड़कर गाड़ी में डाल दिया। आधी रात 500 की भीड़ ने थाना घेराए अज्ञात जगह ले गई पुलिस राजसमंद पुलिस करीब रात 8 बजे दोनों को भीम थाने लेकर पहुंची। इससे पहले जैसे ही लोगों को इसकी जानकारी मिली काफी संख्या में भीड़ थाने के बाहर जुट गई। भड़के लोग नारेबाजी करने लगे। भीड़ डिमांड करने लगी कि आरोपियों को हमारे हवाले कर दो। इस पर एक बार तो पुलिस ने भीड़ को खदेड़ाए लेकिन माहौल बिगड़ते देख पुलिस के भी हाथ.पैर फूल गए। बताया जा रहा है कि इसके बाद पुलिस आरोपियों को अज्ञात जगह ले गई। ैप्ज् का गठनए टीम करेगी जांच मामला बिगड़ते देख प्रदेश में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है। वहींए जयपुर से भी दो बड़े पुलिस अधिकारियों को उदयपुर के लिए रवाना कर दिया था। इधरए मामले की जांच के लिए देर रात ैप्ज् का गठन किया गया है। टीम में ।ज्ै.ैव्ळ ।क्ळ अशोक राठौड़ए ।ज्ै प्ळ प्रफुल्ल कुमार एवं एक ैच् और ।ैच् शामिल होंगे। कन्हैया की हत्या कैसे और क्यों हुई 10 दिन पहले नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने वाले कन्हैयालाल का तालिबानी तरीके से मर्डर कर दिया गया। गौस और रियाज मंगलवार को दिनदहाड़े उसकी दुकान में घुसे। तलवार से कई वार किए और उसका गला काट दिया। दुकान में ईश्वर समेत दो और कर्मचारी मौजूद थे। यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबरण्ण्ण् हत्याकांड से जुड़े अपडेट्स 1. पुलिस ने शहर के 7 इलाकों में एहतियातन कर्फ्यू लगाया है। उधर राजस्थान में ऐहतियातन 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। एक महीने के लिए धारा 144 लागू की गई है। घटना के विरोध में उदयपुर समेत झालावाड़, डूंगरपुर, राजसमंद समेत कई शहर बंद हैं। 2. गृह मंत्रालय ने इस हत्याकांड की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए को सौंप दी। कहा कि किसी भी संगठन और अंतरराष्ट्रीय लिंक की गहन जांच की जाएगी। जांच के लिए 4 सदस्यीय टीम उदयपुर पहुंच गई है। 3. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा. इस मामले की पूरी जांच होगी। उधर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी कन्हैयालाल के परिजनों से मिलने उदयपुर पहुंचे। उन्होंने कहा कि अपराधियों में अब भय नहीं रहा। 4. बीजेपी सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कन्हैया हत्याकांड पर कहा कि ये कोई साधारण घटना नहीं हैए ये एक आतंकी घटना है। 5. केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा है कि सवाल यह है कि क्या हमारे बच्चों को ईश.निंदा करने वालों का सर कलम करना पढ़ाया जा रहा है मुस्लिम कानून कुरान से नहीं आया है। उसे किसी इंसान ने लिखा है, जिसमें सर कलम करने की बात कही गई है। यह कानून बच्चों को मदरसा में पढ़ाया जा रहा है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp