कांग्रेस नेता पर दिनदहाड़े हुए जानलेवे हमले में अभी तक एक अभी आरोपी नहीं चढ़ा पुलिस के हत्थे

बीकानेर। गुरुवार को बदमाशों ने खुलेआम कांग्रेस के नेता पर जानलेवा हमला किया। इन बदमाशों ने अपने परिवार के लोगों के साथ देशनोक करणी माता के दर्शन कर वापस घर लौट रहे कांग्रेस नेता मेघ सिंह की कार को सड़क पर रूकवाकर लाठियों से जमकर पीटा। मार-पीटाई के दौरान आसपास बड़ी संख्या में खड़े लोग मूकदर्शक बने हुए घटनाक्रम को देखते रहे, परंतु किसी ने छुड़ताने का प्रयास नहीं किया। मामला पुरानी रंजिश का है। हिम्मटसर निवासी मेघ सिंह को बदमाशों ने लाठियों से इतना पीटा कि उनके दोनों पैर फैक्चर हो गए। सिर और कमर पर भी वार किए गए, जिससे उनका काफी खून बह गया। पीबीएम अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में उनका इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों के लोग पहले भी रंजिश के चलते एक-दूसरे पर हमले कर चुके हैं। बुधवार को भी दोनों पक्ष आमने-सामने हुए थे और इसके बाद गुरुवार की शाम को करणी माता के दर्शन कर लौटते समय मेघ सिंह पर हमला कर दिया। इस विवाद के पीछे की वजह दस वर्ष पहले सरपंच चुनाव के दौरान हुआ विवाद बताया जा रहा है। उस चुनाव के बाद से ही दोनों पक्ष आपस में रंजिश रखते आ रहे हैं। इस रंजिश के चलते कई बार दोनों पक्षों में मारपीट भी हुई है। जानकारी यह भी मिल रही है कि बुधवार को नोखा में एक पक्ष के लोगों के साथ मारपीट की गई और उनकी बाइक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया था। ऐसे में गुरुवार शाम को बिना नंबरों की कैंपर गाड़ी सवार होकर आए लोगों ने उनको हिम्मटसर गांव के पास रोक लिया। उसके बाद हमलावरों ने मेघ सिंह को गाड़ी से नीचे उतार लाठी व डंडों से ताबड़तोड़ वार किये। हमलावरों ने ज्यादा वार मेघ सिंह के पैरों पर किए हैं, जिससे पैरों को काफी फैक्चर हुए हैं। मारपीट के बाद घायल कांग्रेस नेता को पहले नोखा के बागड़ी अस्पताल में भर्ती करवाया गया वहां से बीकानेर के पीबीएम अस्पताल ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया। मेघ सिंह की हालत ज्यादा खराब होने के कारण शुक्रवार सुबह े तक पुलिस उनके बयान नहीं ले सकी। जिसके चलते एफआईआर भी दर्ज नहीं हो सकी थी। हालांकि एएसआई सुरेश कुमार बयान लेने पीबीएम अस्पताल पहुंचे हैं। वहीं पुलिस ने हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए ग्रामीण इलाकों में दबिश देना शुरू कर दिया था। कुछ युवकों को पूछताछ के लिए हिरासत में लेने की जानकारी मिली है। हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की। पुलिस के अनुसार इस मामले में तीन हमलावरों की पहचान हो रही है, जिसमें हरि सिंह, पृथ्वीराज और बृजलाल शामिल है

error: Content is protected !!
Join Whatsapp