>

खुलासा न्यूज,बीकानेर। पूर्व संसदीय सचिव विश्वनाथ मेघवाल के नेतृत्व में उपखण्ड पूगल में भारतीय जनता पार्टी मंडल पूगल के तत्वाधान में किसानों भाजपा कार्यकर्ताओं ने जाट धर्मशाला में बैठक की। जिसमें वक्ताओं ने गहलोत सरकार द्वारा किसानों को सिंचाई पानी देने, पुगल में विद्युत विभाग का ऐईन कार्यालय बन्द नहीं करने, किसानों को पर्याप्त बिजली देने किसानों के पेंडिंग कृषि कनेक्शन पर विधुत कनेक्शन देने, किसानों की रबि फसल का मुआवजा देने कृषि विभाग द्वारा किसानों को डिग्गियो पर अनुदान देने उपखंड पुगल में शुद्ध पेयजल देना, डेली तलाई मे विधुत विभाग का जीएसएस शीघ्र चालु करने सहित विभिन्न मागे रखी उसके बाद रैली के रूप में जाट धर्मशाला से उपखण्ड कार्यालय तक रैली के रूप में गहलोत सरकार के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए उपखण्ड कार्यालय पहुंचे वहां पर उपखण्ड अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा।
पूर्व संसदीय सचिव डॉ विश्वनाथ मेघवाल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि गहलोत सरकार किसानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है पूर्व में वसुंधरा राजे सरकार में डैम 2018 में 1290 फीट पानी था तब किसानों को सिंचाई पानी दिया जा रहा था 2017 में भी इतना ही पानी था तब किसानों को सिंचाई पानी मिल रहा था वर्तमान में 1308 फीट डैम में पानी है लेकिन गहलोत सरकार पानी नहीं दे रही है। सरकार किसानों के प्रति सौतेला व्यवहार रख रही है। पुगल में पिछली सरकार ने विधुत विभाग का ऐईन कार्यालय खोला यहां ऐईन की नियुक्ति की 682 क्रष्ठ व 710 क्रष्ठ जेईएन की नियुक्ति की। लेकिन वर्तमान सरकार ने इनकी पोस्ट खत्म कर दी एवं कार्यालय बन्द कर दिया उपखण्ड पुगल में हजारों कृषि कनेक्शन पेंडिंग हैं। सरकार शीघ्र किसानों को कृषि कनेक्शन दे किसानो‌ थ्री पेस लाईट मात्र 2 घण्टे ही दी जा रही है। पिछली रबी फसल में भयंकर तुफान आने से ओलावृष्टि से किसानों का लाखों रूपये का नुक़सान हुआ उसका अभी तक मुआवजा नहीं मिला। किसानों की कृषि विभाग डिग्गिया बना दी। लेकिन उसका अनुदान अभी तक नहीं मिला पुगल तहसील में काफी ढाणियां विधुत से वच्छित है। उनको विधुत से जोड़ा जाये पीएचडी विभाग पानी के बिलो‌ पुर्व‌ गहलोत सरकार द्वारा माफ किया था लेकिन अब एक साथ बिल‌ भेज दिये‌ उनको माफ किया जावे पुगल तहसील में सड़कों की स्थिति दयनीय है उसकी मरम्मत करवाई जावे। पूगल कस्बे में फ्लोराइड युक्त पानी आता जिससे कई लोग बीमार हो गये कस्बों को शुद्ध पेयजल दिया जावे।
किसानों का गहलोत सरकार के खिलाफ भयंकर आक्रोश है। डॉ मेघवाल उनकी मांग की सरकार शीघ्र इनकी मागो पुरी करें नहीं तो बड़ा आन्दोलन करेंगे सरकार के विरुद्ध धरने पर बैठेंगे।
विरोध प्रदर्शन में मण्डल अध्यक्ष काशीराम जाखड़, जिलामंत्री देवीलाल मेघवाल, पूर्व जिला महामंत्री सवाई सिंह तंवर, डेली तलाई सरपंच मुकनसिंह भाटी, भीम सिंह राठौड़, पंचायत समिति सदस्य खीरदान चारण, पंचायत समिति सदस्य नारायण झोरड़, बच्चन सिंह राठौड़, प्रताप सिंह, किसनसिह, नरेंद्र सारण, किसान राजपुरोहित, मनीराम ज्याणी, राजाराम सहु, मनीराम सारण, श्याम सुंदर तर्ड, डुंगर राम सेन, सम्पतराम मेघवाल, रावता राम मेघवाल, तुलछाराम मेघवाल, शंकर सुथार, चतुर्भुज मेघवाल, युसुफ खा, बजरंग सिह, इन्द्र सिंह,पूर्व सरपंच कमल सिंह, पूर्व सरपंच भागीरथ नायक, पूर्व सरपंच जामसिह, मुलसिंह आडुरी, दुल्हे सिंह, मगसिंह रामडा सहित भाजपा कार्यकर्ता एवं किसान शामिल हुए।