ओमिक्रोन पर तैयारियों को ढीला नहीं छोड़ना चाहती सरकार

नई दिल्ली, । ओमिक्रोन वैरिएंट की संक्रामकता को देखते हुए केंद्र सरकार इससे निपटने के लिए की जा रही तैयारियों को ढीला नहीं छोड़ना चाहती है। बुधवार को सभी राज्यों के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिवों को पत्र लिखने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को उनके साथ बैठक की। इसके पहले खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उच्च स्तरीय बैठक कर चुके हैं। साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया इसके लिए राज्यों के हालात की समीक्षा कर चुके हैं। वहीं केंद्रीय गृह सचिव कोरोना दिशा-निर्देशों के पालन के लिए राज्यों को पत्र भी लिख चुके हैं। गुरुवार की बैठक में राज्यों की ओर से ओमिक्रोन वैरिएंट के संक्रमण से निपटने के लिए तैयारियों पर रिपोर्ट पेश की गई। राज्यों ने कोरोना के इलाज के लिए जिलेवार तैयार बिस्तरों की संख्या, जरूरी दवाओं के स्टाक, आक्सीजन प्लांटों और वेंटीलेटर की स्थिति की जानकारी दी। राजेश भूषण ने राज्यों को इनकी उच्च स्तर पर निगरानी की जरूरत बताई। साथ ही वेंटीलेटर व आक्सीजन प्लांटों की चालू स्थिति में जांच करने को कहा।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp