गैंगस्टर पपला गुर्जर 7 दिन भूख हड़ताल पर बैठा एनकाउंटर का भी सता रहा डर - Khulasa Online

गैंगस्टर पपला गुर्जर 7 दिन भूख हड़ताल पर बैठा एनकाउंटर का भी सता रहा डर

अलवर। अजमेर जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर 7 दिन भूख हड़ताल पर रहा। 20 सितंबर से वापस खाना शुरू कर दिया है। भूख हड़ताल के पीछे पपला की मांग है कि उसे अजमेर जेल से देश में किसी भी दूसरी जेल में शिफ्ट कर दिया जाए। यहां उसकी जान को खतरा है। इस कारण उसने भूख हड़ताल की, लेकिन सात दिन के बाद अब वापस खाना खाने लग गया है। दरअसल, 22 सितंबर को पपला की बहरोड़ कोर्ट में पेशी थी, लेकिन पुलिस लेकर नहीं पहुंची। इस दौरान वकील ने पपला की भूख हड़ताल की जानकारी दी। पपला गुर्जर के वकील ने बताया कि विक्रम के पिता उनसे अजमेर जेल में मिलने भी गए थे। उसके बाद पिता ने भी पपला को दूसरी जेल में शिफ्ट करने की बात कही थी। पपला ने पहले भी पेशी पर बेडियों में बांध कर लाने की मांग की थी। ताकि उसका एनकाउंटर नहीं हो सके। दूसरी तरफ पुलिस पपला को पेशी पर भी नहीं लेकर आ पा रही। पिछली पांच पेशियों में पपला को कोर्ट नहीं लाया गया। अब 11 अक्टूबर को पेशी की अगली तारीख है। एनकाउंटर का डर सता रहा पपला को जेल में बंद गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को खुद के एनकाउंटर डर सता रहा है। पपला के वकील पहले ही जेल प्रशासन से मांग कर चुका है कि पपला को पेशी पर लाते समय बेडिय़ों में बांध कर ही लाया जाए। ताकि उसके एनकाउंटर का खतरा नहीं रहे। पपला भी कह चुका है कि उसे अजमेर जेल से किसी दूसरी जेल में शिफ्ट किया जाए। हाई सिक्योरिटी जेल अजमेर में पपला पपला गुर्जर 15 फरवरी से अजमेर की हाई सिक्योरिटी जेल में बंद है। वहीं से उसे पेशी पर लाया जाता है। पहले 2 सितंबर को पपला को पेशी पर नहीं लाया गया था। अब 22 सितंबर को भी पपला को पेश नहीं किया गया। अगली तारीख 11 अक्टूबर है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp