>


कोरोना के बिगड़ते हालातों से पहले कलेक्टर नमित मेहता ने उन अधिकारियों के नाम और मोबाइल नंबर सार्वजनिक किए हैं, जिनके पास इसकी जिम्मेदारी है। दरअसल, ऑक्सीजन और बेड के लिए पीड़ित रोगी के परिजन इधर से उधर भागते रहते हैं, लेकिन उन्हें कोई जिम्मेदार नहीं मिलता। अब कलेक्टर ने प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी देते हुए कमेटियों का गठन कर दिया है।

ऑक्सीजन की समस्याओं का निपटारा ये करेंगे
मरीजों को समुचित ऑक्सीजन उपलब्ध करवाने के लिए जिला स्तरीय दल गठित किया गया है। आबकारी विभाग के अतिरिक्त आयुक्त अजीत सिंह (मो. 9828590000) को इस कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है। वहीं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डाॅ. देवेन्द्र चौधरी (9414171874) तथा सहायक औषधि नियंत्रक सुभाष मुटनेजा (9414021256) को सदस्य नियुक्त किया गया है। इस दल द्वारा जिले की समग्र तथा राजकीय एवं निजी चिकित्सालयों में आक्सीजन की उपलब्धता, मांग एवं खपत की संस्थान वार प्रतिदिन समीक्षा एवं ऑडिट की जाएगी। साथ जिले में स्थित राजकीय एवं निजी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करनी होगी। इसके लिए दल द्वारा चौबीस घंटे कार्य करने वाला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाएगा तथा राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम से सतत समन्वय रखते हुए कार्य करना होगा।

बैड्स व्यवस्था के लिए जिला स्तरीय दल गठित
इसी श्रृंखला में मरीजों को बैड्स उपलब्ध करवाने के लिए जिला स्तरीय दल का गठन नगर निगम आयुक्त ए एच गौरी (8107211786) की अध्यक्षता में गठित किया गया है। इसमें प्रशिक्षु आईएएस सिद्धार्थ पलनिचामी (9698355688) तथा उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी(प.क.) डाॅ. योगेन्द्र तनेजा (9413155056) को सदस्य बनाया गया है।

सांगवा होंगे कोटगेट थाना क्षेत्र के एरिया मजिस्ट्रेट
प्रारम्भिक शिक्षा निदेशालय के अतिरिक्त निदेशक अशोक सांगवा कोटगेट पुलिस थाना क्षेत्र के कार्यपालक मजिस्ट्रेट होंगे। जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने इस संबंध में आदेश जारी करते हुए भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी कनिष्क कटारिया के स्थान पर सांगवा को कोटगेट थाना क्षेत्र का एरिया मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। दरअसल, कनिष्क कटारिया का प्रशिक्षण काल समाप्त हो गया है। ऐसे में उन्हें जयपुर के लिए रिलीव कर दिया गया है।