एक थी भंवरी... प्यार, पॉलिटिक्स और अनसुलझी अपराध कथा - Khulasa Online

एक थी भंवरी… प्यार, पॉलिटिक्स और अनसुलझी अपराध कथा

ANM भंवरी देवी की हत्या को 10 साल हो गए। आज भी यह मामला ठंडा होने का नाम ही नहीं ले रहा। मंगलवार को पूर्व विधायक मलखान सिंह को हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद भंवरी फिर चर्चा में है। भंवरी और मलखान का प्रेम-प्रसंग काफी लंबा चला। इस प्रेम-प्रसंग में महिपाल मदेरणा की एंट्री होने के बाद मामला बिगड़ गया। इसमें कुल 17 लोगों को जेल हुई। 9 को जमानत मिल चुकी है। CBI की ओर से यहां तक दावा किया गया कि भंवरी की एक बेटी का DNA मलखान से मेल खाता है। यानी वह मलखान की बेटी है।

ऐसे शुरू हुई प्रेम कहानी

भंवरी देवी अपनी नौकरी के साथ ही लोक गीतों के वीडियो में अभिनय करती थी। लोक गीतों में अभिनय के दौरान ही मलखान से संपर्क में आई। दोनों की दोस्ती हो गई। धीरे-धीरे भंवरी और मलखान की दोस्ती प्रेम में बदल गई। मारवाड़ के कद्दावर नेता रहे स्व. रामसिंह विश्नोई के पुत्र से मलखान से दोस्ती ने भंवरी में भी राजनीति में एंट्री की इच्छा पैदा कर दी। मलखान, भंवरी को राजनीति में एंट्री दिलाने में विफल रहे। भंवरी का मलखान पर दबाव बढ़ता गया। भंवरी ने मलखान की संपत्ति में हिस्सेदारी मांगनी शुरू कर दी। इसके बाद भंवरी के साथ समझौता करने को मलखान की बहन इंद्रा की एंट्री हुई।

फिर बिगड़ी बात

इंद्रा सहित अन्य परिजनों ने भंवरी के साथ कुछ ले देकर सम्मानजनक समझौता कर उससे पीछा छुड़ाने का प्रयास किया। भंवरी उनकी उम्मीदों से कहीं अधिक शातिर निकली। उसने मलखान सहित अन्य परिजनों को स्पष्ट कर दिया। समझौता वार्ता बहुत हो चुकी है। मैं खेजड़ली शहीदी मेले में एकत्र होने वाले विश्नोई समाज के सामने मलखान और अपने प्रेम संबंधों का खुलासा कर दूंगी। यहीं से विश्नोई परिवार पूरी तरह से दबाव में आ गया। इसके बाद बात पूरी तरह से बिगड़ गई। इसे लेकर उसकी इंद्रा के साथ काफी लंबी तकरार भी हुई। बातचीत का कोई सूत्र अब पीछे बचा नहीं था। इसके कुछ दिन बाद भंवरी गायब हो गई।

सिर्फ एक CD सामने आई

भंवरी ने दावा किया था कि उसके पास महिपाल और मलखान के साथ संबंधों की CD है। CD को वह सार्वजनिक कर देगी। झगड़े की जड़ ही CD बनी। CD बरामद करने के उद्देश्य से ही भंवरी का अपहरण हुआ, लेकिन बीच रास्ते मामला बिगड़ गया। भंवरी को काबू करने के प्रयास में उसका दम टूट गया। भंवरी के पास मौजूद CD कहां गई। इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। उसकी मौत के बाद इतना अवश्य हुआ कि उसकी और महिपाल मदेरणा की एक CD सामने आई। लोग कयास लगाते रहे कि कुछ और CD सामने आएगी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि ये सीडी वास्तव में थी भी या नहीं? यदि थी तो अब कहां है?

लाखों में CD का सौदा करने का आरोप

भंवरी के पति कई दिनों तक इस मामले पर चुप रहे और बाद में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा पर इसका आरोप लगाया था। पुलिस मामले को सुलझाने में नाकाम रही तो मामला सीबीआई को सौंप दिया गया। मामला ज्यादा बढ़ा तो महिपाल मदेरणा को इस्तीफा देना पड़ा था। भंवरी पर आरोप लगाया गया था कि उसने CD देने के लिए लाखों रुपए में दोनों से सौदा किया था।

कौन थी भंवरी

भंवरी देवी जोधपुर के पास एक सरकारी अस्पताल में नर्स थी। 36 वर्षीय भंवरी राजस्थानी लोक गीतों के एलबम में भी काम करती थी। वह खुद का एलबम लाना चाहती थी। वह एक्टिंग के कारण अक्सर शहर से बाहर रहती थी। इस वजह से वह ड्यूटी से नदारद रहती थी। जब ज्यादा दिन तक वह नदारद रहने लगीं तो उसे विभाग ने सस्पेंड कर दिया। इसके बाद वह स्थानीय विधायक मलखान सिंह विश्नोई से मिलने गई। उनसे नजदीकी बढ़ाने के बाद मलखान ने ही एक दिन उसकी मुलाकात महिपाल मदेरणा से कराई। रिपोर्ट्स के मुताबिक इसके बाद भंवरी की नौकरी न केवल दोबारा से बहाल हो गई, बल्कि अपने गांव के समीप ही पोस्टिंग मिल गई। बाद में भंवरी देवी की मलखान सिंह और महिपाल से नजदीकियां हो गईं। यह सब होने के बाद भंवरी देवी की सियासी गलियारों में जान-पहचान बढ़ती गई और उसने स्थानीय लोगों के काम करवाने शुरू कर दिए।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp