सडक़ हादसे के बाद कार की तलाशी में मिली लाखों रुपये की नशे की गोलियां - Khulasa Online

सडक़ हादसे के बाद कार की तलाशी में मिली लाखों रुपये की नशे की गोलियां

श्रीगंगानगर (राजियासर )। जिले के राजियासर थाना क्षेत्र में गुरुवार को एक ट्रक का कार में पीछे से टक्कर मारना पुलिस को नशा तस्करों को पकडऩे में कामयाबी दिलाने वाला साबित हुआ। पुलिस टक्कर के इस मामले में जांच के लिए मौके पर पहुंची लेकिन पुलिस को देखकर कार सवार युवक कार को लॉक कर भागने की कोशिश करने लगे। उनकी गतिविधियां संदिग्ध लगने पर पुलिस ने इन्हें रोका और पूछताछ की तो मामले का खुलासा हुआ। तलाशी ली तो कार में नशे में उपयोग होने वाली एक लाख 17 हजार गोलियां मिली। नशे के तस्कर इतने शातिर हैं कि पुलिस को चकमा देने के लिए इन्होंने पंजाब नंबर की कार में हरियाणा की नंबर प्लेट लगा रखी थी। ये लोग बीकानेर से ये नशे की गोलियां लाए थे और इन्हें पंजाब में गुरहरसहाय की ओर ले जा रहे थे। हिंदौर टोल प्लाजा के पास हुई कार्रवाई जिले के राजियासर थाना क्षेत्र में हिंदौर टोल प्लाजा के पास गुरुवार को एक ट्रक ने कार में पीछे से टक्कर मारी। इससे कार का पिछला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। इस पर मौके पर लोग एकत्र हो गए और किसी ने राजियासर पुलिस को सूचना दे दी। मौके पर पहुंची राजियासर पुलिस के एसएचओ पवन कुमार ने दोनों वाहनों का जायजा लिया। पुलिस को देखते ही कार सवार दो युवकों ने भागने की कोशिश की। उनकी एक्टिविटी देखते ही पुलिस को शक हुआ तो उन्हें रोककर पूछताछ की तो कार में एक लाख 17 हजार नशे की गोलियां होने की जानकारी मिली। इस पर कार को थाने लाया गया। बीकानेर से गुरहरसहाय ले जा रहे थे नशे की गोलियां पूछताछ में आरोपी पंजाब के फिरोजपुर जिले के मामडोट थाना क्षेत्र के लखासिंहवाला निवासी बोहड़ सिंह पुत्र महेंद्र सिंह और फिरोजपुर जिले के ही गुरुहरसहाय थाना क्षेत्र के बस्ती मग्घरसिंह वाली निवासी मनप्रीत सिंह पुत्र बलविंद्रसिंह ने बताया कि वे ये नशे की गोलियां बीकानेर से गुरुहरसहाय की तरफ ले जाने वाले थे। पु्लिस ने वाहन के नंबरों की जांच की तो इसकी नंबर प्लेट भी फर्जी निकली। कार पंजाब नंबर की है जबकि पुलिस को चकमा देने के लिए इस पर हरियाणा की नंबर प्लेट लगाई गई थी।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp