कहीं कबाड़, कहीं टंकियों में गंदगी मिली - Khulasa Online

कहीं कबाड़, कहीं टंकियों में गंदगी मिली

अस्पतालों के हालात देखने पहुंची टीमें,
गत माह अप्रेल में चिकित्सालयों में मनाया गया था विशेष स्वच्छता पखवाड़ा, मिशन निदेशक ने गठित की थी टीमें, धरातल पर देखी क्रियान्विति
बीकानेर।
गत अप्रेल माह में प्रदेश के चिकित्सालयों में मनाए गए विशेष पखवाड़े के तहत वार्ड, लेबर रूम, पीएनसी वार्ड व ओपीडी सहित अस्पतालों को संक्रमण मुक्त करने के प्रयासों को धरातल पर परखने के लिए जयपुर से पहुंची टीमों ने जिले के कई अस्पतालों में निरीक्षण किया। राज्य स्तर से मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा द्वारा 22 टीमों का गठन कर जिलों की पड़ताल करवाई जा रही है। इसी क्रम में पहुंची टीमों ने बीकानेर के अस्पतालों का हालात देखे। तीन दिवसीय निरीक्षण कार्यक्रम में दलों ने विशेष रूप से स्वच्छता अभियान के कार्यों, नि:शुल्क दवा व जांचों की उपलब्धता की भी समीक्षा की।
इन अस्पतालों का निरीक्षण
जिला प्रभारी डॉ. राजेंद्र मित्तल द्वारा देशनोक, नापासर, किलचू, बादनू, केसरदेसर जाटान व जिला अस्पताल का निरीक्षण किया गया। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. योगेन्द्र तनेजा व डॉ. आशुतोष उपाध्याय साथ रहे। दूसरी टीम में जिला प्रभारी अर्चना शर्मा द्वारा जामसर, जयमलसर, गजनेर व जिला अस्पताल का निरीक्षण किया गया जिसमे डीपीएम सुशील कुमार व डॉ. मनुश्री सिंह शामिल रहे। जिला प्रभारी दलों ने भ्रमण रिपोर्ट सीएमएचओ बीकानेर को सौंप दी है, जिसके अनुसार सुधारात्मक कदम उठाए जाएंगे।
सीएमएचओ डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि जयपुर से आए निरीक्षण दलों के सहयोगात्मक पर्यवेक्षण द्वारा मौके पर ही सुधार करवाए गए। नापासर सीएचसी को उन्होंने उत्कृष्ट माना, तो कुछ अस्पतालों में कमियां भी उजागर की। भ्रमण परिवेदन द्वारा मुख्यत:नकारा सामान के निस्तारण, पानी की टंकियों की समयबद्ध सफाई, भ्रमण रजिस्टर संधारण, मरीजों व परिजनों के लिए स्वच्छ पेयजल व कूलर की व्यवस्था, दवाओं व जांचों की उपलब्धता आदि प्रमुख है, जिन पर जिला स्तरीय दल गठित कर शीघ्र सुधार की कार्यवाही की जाएगी।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp