प्रदेश के वेटरनरी छात्रों का प्रदर्शन आठवें दिन भी जारी, आमरण अनशन की दी चेतावनी - Khulasa Online

प्रदेश के वेटरनरी छात्रों का प्रदर्शन आठवें दिन भी जारी, आमरण अनशन की दी चेतावनी

  राजस्थान पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय बीकानेर की 3 पशु चिकित्सा महाविद्यालय जयपुर , बीकानेर और उदयपुर में पशु चिकित्सा छात्र अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पिछले 8 दिन से धरने पर बैठे हुए हैं। क्या है प्रमुख मांगे प्रदेश के पशु चिकित्सक इंटर्नशिप भत्ते, पी.जी. भत्ते मेडिकल डॉक्टर्स के समान करने , पी.जी. कोर्स की फीस वृद्धि को वापस लेने तथा पशु चिकित्सा अधिकारी की नई भर्ती निकलवाने कि 4 सूत्री मांगों को लेकर 7 दिन से धरने पर बैठे हैं। राजस्थान सरकार द्वारा उनकी मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है । *वेटरनरी डॉक्टर के साथ हो रहा है भेदभाव-* प्रदेश में सम्मान योग्यता के वाले मेडिकल डॉक्टर्स को राज्य सरकार 14000+DA इंटर्नशिप भत्ते के रूप में दे रही है और प्रदेश के अंदर आयुर्वेद इंटर्न डॉक्टर को भी 14000 ₹ दिए जा रहे हैं लेकिन प्रदेश के वेटनरी इंटर्न डॉक्टर्स को मात्र 3500 ₹ भत्ता दिया जाता है , जो बाकी इंटर्न डॉक्टर्स की तुलना में काफी कम है। इसको बढ़ाने की मांग पर प्रदेशभर के वेटरनरी डॉक्टर लंबे समय से कर रहे हैं लेकिन अभी तक उनके साथ ही भेदभाव हो रहा है। प्रदेश के अंदर मेडिकल पीजी डॉक्टर को 65000 ₹ प्रतिमाह भत्ता दिया जाता है जबकि वेटरनरी पीजी डॉक्टर्स को मात्र 10000 ₹ प्रतिमाह भत्ता मिलता है जबकि आयुर्वेद पीजी डॉक्टर को प्रदेश में 55000₹ भत्ते के रूप में दिए जाते हैं। देशभर में वेटरनरी इंटर्नशिप स्टाइपेंड राजस्थान में मात्र 3500₹ इंटर्नशिप भत्ते के रूप में दिए जा रहे हैं जबकि देश के अन्य राज्यों में वेटरनरी इंटर्नशिप भत्ता राजस्थान की तुलना में काफी ज्यादा मिल रहा है। बीएचयू (यूपी) में 23500₹ केरल में 20000₹ कर्नाटक में 17000₹ हरियाणा में 14000₹ प्रदेश भर में जारी है प्रदर्शन- राज्य के विभिन्न वेटरनरी कॉलेज के अंदर वेटरनरी छात्र पिछले 7 दिनों से लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं सरकार उनकी मांगों को बजट में पूरा करने का आश्वासन देने के बाद भूल गई , बजट में उनकी घोषणा नहीं होने के कारण प्रदेशभर के वेटरनरी डॉक्टर सड़कों पर उतर गए हैं। बीकानेर , जयपुर तथा नवानिया उदयपुर स्थित वेटरनरी कॉलेज नारेबाजी कर आक्रोश रैली निकाल कर अपनी मांगों को 3 मार्च तक न मनाने पर आमरण अनशन पर बैठने का ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दे चुके हैं।जिसमें उन्होंने बताया कि यदि सरकार 3 मार्च को बजट अनुमोदन के दौरान उनकी मांगों को पूरा नहीं करती है तो प्रदेश की तीनों पशु चिकित्सा महाविद्यालय में पशु चिकित्सा के छात्र आमरण अनशन पर बैठेंगे। डॉक्टर्स मंत्री बीडी कल्ला एवं भंवर सिंह भाटी से भी मिले- बीकानेर वेटरनरी यूनिवर्सिटी के इंटर्न डॉक्टर प्रदेश सरकार के मंत्री बीड़ी कला एवं भंवर सिंह भाटी से भी मिलकर अपनी मांगों को 3 मार्च के बजट अनुमोदन में सम्मिलित करवाने का आग्रह किया जिस पर मंत्री महोदय ने पशुपालन मंत्री लालचंद जी कटारिया के सामने बात रखने तथा इन्हें बजट अनुमोदन मैं शामिल करवाने का आश्वासन दिया।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp