>


राजस्थान के जोधपुर में रोज 2 हजार से ज्यादा नए कोरोना केस मिल रहे हैं। इसके बावजूद लोग लापरवाही बरत रहे हैं। सोमवार की रात यहां कोरोना गाइडलाइन की अनदेखी कर एक शादी सैकडों लोगों का जमावड़ा मौजूद था। जब पुलिस ने छापा मारा, तो वहां अधिकतर लोगों ने मास्क भी नहीं लगाया था। इसके बाद आयोजक पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया। जोधपुर में इतने बड़े जुर्माने का यह पहला मामला है।

जोधपुर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गृह जिला है। यहां डांगियावास थानाधिकारी ने बताया कि कांकेलाव गांव में रामचन्द्र पालीवाल के यहां शादी की सूचना मिली थी। जांच करने पहुंचे तो वहां का नजारा चौंकाने वाला था। लग ही नहीं रहा था कि कोरोनाकाल है। बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे होकर खाना खा रहे थे। गाइडलाइन के उलट 100 से ज्यादा लोग होने पर नई गाइड लाइन के तहत एक लाख रुपये का चालान काटा गया। साथ ही, ज्यादातर लोगों को वहां से हटा दिया।

जुर्माना जमा न करने पर गिरफ्तारी संभव
पुलिस के अनुसार, एक लाख रुपये की राशि जमा नहीं कराने पर महामारी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाएगा। इसमें आरोपी की गिरफ्तारी भी की जाती है। साथ ही, इसमें 3 साल तक की सजा का प्रावधान है। जोधपुर में अभी तक अधिकांश मामलों में 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जा रहा था।

शादी में अधिकतम 31 मेहमानों को ही इजाजत
कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए राज्य सरकार ने महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा लागू किया है। कोरोना की नई गाइड लाइन में शादी समारोह में मेहमानों की अधिकतम संख्या 31 निर्धारित कर दी गई है। इससे ज्यादा लोग बुलाए जाने पर महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाती है।