तीन वर्षों में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में हुआ सराहनीय कार्य : भाटी - Khulasa Online

तीन वर्षों में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में हुआ सराहनीय कार्य : भाटी

** *ओड समाज के सामुदायिक भवन का उद्घाटन* बीकानेर, 10 अप्रैल। ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी में रविवार को कोलायत के वार्ड नंबर 1 में ओड समाज के समुदायिक भवन का उद्घाटन किया। इस भवन का निर्माण विधायक निधि से पांच लाख रुपए की लागत से किया गया है। इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि ओड जाति के लोग कर्म को पूजा मानने वाले हैं। यह लोग समाज की मुख्यधारा से जुड़े, इसमें किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि विधायक निधि से बना यह भवन समाज के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि भामाशाह और दानदाता इसके विकास के लिए आगे आएं। इस अवसर पर भाटी ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में राजस्थान में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा काम हुआ है। कोलायत विधानसभा क्षेत्र में पांच नए महाविद्यालय खोले गए हैं। सरकारी कॉलेज खुलने से अब गरीब, मजूदर और किसान के बेटे को ग्रामीण क्षेत्र में उच्च शिक्षा के अवसर मिले हैं। उन्होंने कहा कि बच्चियों को पढ़ाएंगे तो ओड समाज आगे बढ़ेगा। बच्चियों को पढ़ने के अवसर दिलाने में सरकार कोई कमी नहीं आने देगी। वर्तमान में प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर उच्च माध्यमिक विद्यालय खोले गए हैं। श्रीकोलायत में बच्चियों के लिए महाविद्यालय स्वीकृत किया गया है। यह कॉलेज इसी साल शुरू हो जाएगा। सरकार के प्रयासों से ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के अवसर बढ़े हैं। नहर खुदाई के समय कार्य करने वाले ओड समाज के लोगों को नहरी क्षेत्र में मुरब्बा आवंटित करने की मांग के संबंध में उन्होंने कहा कि जैसलमेर क्षेत्र में ऐसे आवंटन किए गए हैं, लेकिन बीकानेर में अभी यह लंबित है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री और राजस्व मंत्री के समक्ष यह मुद्दा रखते हुए आग्रह किया जाएगा कि ओड समाज के जितने प्रकरण लंबित हैं, उनकी छंटनी करके जमीन उपलब्ध करवाई जाए। इस अवसर पर झंवर लाल सेठिया, उपखंड अधिकारी प्रदीप कुमार चाहर, विकास अधिकारी दिनेश सिंह भाटी, अतिरिक्त विकास अधिकारी अमर सिंह बीका, जिला परिषद सदस्य पुरखाराम गेदर, पूर्व सरपंच देवी सिंह रावलोट, गेन सिंह सांखला, पंचायत समिति के सदस्य अमोलख कुमावत, जैसलमेर के पूर्व वाइस चेयरमैन बाबूलाल, दुलाराम मेघवाल, कोटडी के उपसरपंच गोविंद राम, समाजसेवी फौजी राम ओड, रघुनाथ ओड, मदाराम ओड, मूलाराम ओड मौजूद रहे।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp