जनवरी से कपड़े और फुटवेयर खरीदना होगा महंगा

नई दिल्ली। नया साल यानी जनवरी 2022 से देश में कुछ बदलाव होने वाले हैं। इन बदलावों से आम लोगों से लेकर कारोबारी तक प्रभावित होंगे। 1 जनवरी 2022 से कई चीजों पर टैक्स  बढ़ रहा है। लिहाजा कपड़े व जूते चप्पल खरीदने से लेकर कैब की ऑनलाइन बुकिंग तक आपको महंगी पडऩे वाली है। कपड़े और फुटवेयर खरीदना महंगा होगा 1 जनवरी से कपड़े और फुटवेयर पर 12  लगेगा। भारत सरकार ने कपड़ा, रेडीमेड और फुटवेयर पर 7त्न त्रस्ञ्ज बढ़ा दी है। 1 जनवरी से रेडीमेड गारमेंट्स पर की दर 5त्न से बढ़कर 12त्न हो जाएगी। इससे रेडीमेड गारमेंट्स की कीमतें बढ़ेंगी। ऐसे में नए साल से रेडीमेट गारमेंट्स खरीदने के लिए ग्राहकों को अधिक पैसे चुकाने पड़ जाएंगे। ऑटो रिक्शा या कैब बुक करना पड़ेगा महंगा इसके अलावा ऑनलाइन तरीके से ऑटो रिक्शा या कैब बुकिंग पर 5त्न त्रस्ञ्ज लगेगा। यानी ओला, उबर जैसे ऐप बेस्ड कैब सर्विस प्रोवाइडर प्लेटफॉर्म से ऑटो रिक्शा बुक करना अब महंगा हो जाएगा। हालांकि ऑफलाइन तरीके से ऑटो रिक्शा के किराए में कोई बदलाव नहीं होगा। उसे टैक्स से बाहर रखा गया है। ऑनलाइन फूडिंग भी पड़ेगी महंगी नए साल से फूड डिलीवरी ऐप्स जैसे जोमैटो और स्विगी पर भी 5त्न त्रस्ञ्ज लगेगा। हालांकि यूजर्स पर इसका कोई फर्क नहीं पडऩे वाला है क्योंकि यह पहले ही क्लियर किया जा चुका है कि सरकार यह टैक्स ग्राहकों से नहीं, बल्कि ऐप कंपनियों से वसूलेगी। हालांकि ऐसा देखा जाता है कि अगर सरकार की ओर से किसी कंपनी पर कोई टैक्स लगाया जाता है तो ऐप कंपनियां किसी ना किसी तरीके से उसे ग्राहकों से ही वसूलती हैं। ऐसे में नए साल में ऑनलाइन फूड ऑर्डर करना महंगा हो सकता है। टैक्स चोरी रोकने के लिए उठाए कदम टैक्स चोरी रोकने के लिए नए साल में कुछ और कदम उठाए जाएंगे। इनमें त्रस्ञ्ज रिफंड पाने के लिए आधार वैरिफिकेशन अनिवार्य करना, जिन व्यवसायों ने टैक्स अदा नहीं किए हैं,

error: Content is protected !!
Join Whatsapp