आटा-साटा के 8 साल बाद दूसरी शादी पर खूनी जंग , 2 बच्चों की मां ने युवक से की लैव मैरिज

  आटा-साटा प्रथा से हुई शादी 8 साल बाद खूनी जंग तक पहुंच गई है। 2 बच्चों की मां ने पति को छोड़ गांव के ही युवक से लैव मैरिज कर ली। इससे नाराज पति ने अपनी बहन को घर बिठा लिया। बोला- मेरी पत्नी लाओ, उसके बाद ही बहन को उसकी ससुराल भेजूंगा। इस पर सोमवार शाम को प्रेम विवाह करने वाली महिला के चार भाई उसे समझाने-बुझाने गए। उन पर विवाहिता के नए पति व परिवार के लोगों ने धारदार हथियारों से हमला कर दिया। मामला पाली के सिरियारी क्षेत्र के धनला गांव का है। घटना को लेकर दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ सिरियारी थाने में रिपोर्ट दी। इधर, आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से नाराज माताजी गुड़ा निवासी केसाराम, गमनाराम सहित ग्रामीणों ने मंगलवार को धनला के सरकारी अस्पताल के बाहर विरोध जताया। मौके पर मारवाड़ जंक्शन विधायक खुशवीर सिंह, सिरियारी थाना प्रभारी हमीर सिंह पहुंचे। उनके आश्वासन के बाद ग्रामीण धरने से उठे। इधर चारों घायल भाइयों का उपचार जारी हैं। गंभीर घायल गमनाराम को जोधपुर रेफर किया गया है। पाली जिले के माताजी गुड़ा (खिंवाड़ा) गांव निवासी संगीता की आठ साल पहले धनला (सिरियारी) गांव के रमेश से शादी हुई थी। रमेश की बहन कमला की शादी संगीता के भाई केसाराम से आटा-साटा प्रथा में हुई थी। शादी के बाद संगीता के दो बच्चे हुए। कमला के तीन बच्चे हुए। करीब दो माह पहले संगीता ने पति रमेश को छोड़ गांव के ही शेषाराम से प्रेम विवाह कर लिया। संगीता अपने छोटे बेटे को साथ ले गई। बेटी को पीहर में ही छोड़ दिया। संगीता के दूसरे युवक से शादी करने से नाराज उसके पहले पति रमेश अपनी बहन कमला को ससुराल से घर ले आया। उसने अपने ससुराल वालों से कहा कि मेरी पत्नी (संगीता) को लाओ, उसके बाद ही कमला को ससुराल भेजूंगा। सोमवार शाम को माताजी गुड़ा निवासी केसाराम, मांगीलाल, नारायणलाल व गमनाराम धनला गांव अपनी बहन को लेने गए। संगीता के दूसरे पति शेषाराम व उसके परिवार वालों से बहस हो गई। शेषाराम व उनके परिवार वालों ने धारदार हथियार, लाठियों से संगीता के चारों भाइयों पर जानलेवा हमला कर दिया। ग्रामीणों ने बीच-बचाव कर उन्हें छुड़ाया तथा हॉस्पिटल पहुंचाया। गंभीर रूप से घायल एक भाई गमनाराम का जोधपुर में इलाज चल रहा है। शेष तीन भाइयों को पाली के बांगड़ हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp