बीकानेर से बड़ी खबर- युवती ने जसरासर सरपंच के खिलाफ दर्ज करवाया दुष्कर्म का मुकदमा, जानिए पीडि़ता की आपबीती - Khulasa Online

बीकानेर से बड़ी खबर- युवती ने जसरासर सरपंच के खिलाफ दर्ज करवाया दुष्कर्म का मुकदमा, जानिए पीडि़ता की आपबीती

-  जसरासर पुलिस थाने का मामला खुलासा न्यूज, बीकानेर। बीते दिनों हनी टे्रप के मामले में नया मोड़ आ गया है।  मामले में युवती ने अब जसरासर सरपंच प्रतिनिधि के खिलाफ जबरन दुष्कर्म करने का मुकदमा दर्ज करवाया है। पीडि़ता ने इस आशय की टाइपशुदा रिपोर्ट अपने पिता के जरिए जयनारायण व्यास कॉलोनी पुलिस थाने में दी। पुलिस ने सरपंच प्रतिनिधि रामनिवास पुत्र नथाराम जाति  के विरूद्ध बलात्कार का मुकदमा दर्ज किया है। मामले की जांच थानाधिकारी महावीर प्रसाद पुलिस निरीक्षक करेंगे।

यह है पूरा मामला, पीडि़ता ने बताई आपबीती पीडि़ता ने दी रिपोर्ट में बताया कि वह मैं 24 वर्षीय ग्रामीण लड़की हूं। मैनें पुलिस उपनिरीक्षक की लिखित एवं शारीरिक दक्षता परीक्षा उर्तीण कर रखी है। मैं अध्ययन हेतु जयनारायण व्यास कॉलोनी, बीकानेर में एक किराये के मकान में रहती हूँ। दिनांक 05.12.2021 को रामनिवास (  जसरासर सरपंच प्रतिनिधि) से फेसबुक पर सम्पर्क हुआ । हाय हल्लो ही किया विशेष कोई बात नहीं हुई। उसके पश्चात् रामनिवास ( जसरासर सरपंच प्रतिनिधि) ने मेरे से वाट्स अप कॉल की तथा मेरे बॉयोडाटा मांगे । और कहा कि वीडियो कॉल कर जिससे पता लगे कि तूं लड़का है या लड़की । मैंनें वीडियों कॉल किया तो उसने बोला कि मुझे फ्रेंडशिप करनी है, मैं तुम्हारा हमेशा हर तरह से सहयोग करूंगा । रामनिवास वाट्सअप से तथा अन्य तरीके से अपने मोबाईल नंबरों से बात करता रहता था। 16.12.2021 को रामनिवास (  जसरासर  सरपंच प्रतिनिधि) दोपहर में मेरे मकान पर आया तथा मेरे डाक्यूमेन्टस् की फोटो कॉपीयां मांगी। मेरे पास पूर्व से सब डाक्यूमेन्टस् की फोटो कॉपियां, दसवी, बारवीं की अंकतालिका, मेरा मेरे और मेरे पापा का आधार कार्ड, पासपोर्ट साईज थे जो मैनें उसे दे दिए। थोड़ी देर तक वह अपने पद और धनी होने व बड़े व राजनेताओं से अच्छे संपर्क होने की बातें करता रहा फिर उसने जबरदस्ती मेरे से मेरी इच्छा के विरूद्ध शारीरिक संबंध बनाए। उसके बाद कहा कि किसी को बताना मत नहीं तो बहुत बुरा होगा। मैं उससे इतनी अधिक भयभीत हो गई कि मैं किसी को बताने या रिपोर्ट करने की हिम्मत नहीं कर सकी। उसके दो दिन बाद मुझे ढूंढता हुआ रामनिवास बीकानेर आया, तब मैं महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी में थी, वहां आकर बोला तेरे को देखने की इच्छा हो गई थी, इसलिए आ गया। फिर एक दो दिन बाद उसका फोन आया व बोला कि तुम्हारा अच्छी कम्पनी में जॉब इन्टरव्यू सीकर में होगा इसलिए तुम सीकर आ जाओ, तुम्हारे कम्पनी में अच्छा जॉब मिल जाएगा। मैं बीकानेर से शाम को चार बजे बस में रवाना होकर करीब 8 बजे सीकर इसलिए तुम सीकर आ जाओ, तुम्हारे कम्पनी में अच्छा जॉब मिल जाएगा। मैं बीकानेर से शाम को चार बजे बस में रवाना होकर करीब 8 बजे सीकर पहुंची तथा सांवली बाईपास उतरी वहां रामनिवास फोर्चूनर गाडी लिए खडा था। वह मुझे कल्याण सर्किल से आगे कोर्ट के सामने गली में स्थित होटल में ले गया उस होटल का नाम सम्भवत: गार्डन मेन्यू है, पूरा याद नहीं है, उसने मेरा और मेरे पिताजी का आधार कार्ड देकर होटल में कमरा लिया था। कमरे में जाकर कहा कि इन्टरव्यू लेने वालो को देर हो गई इसलिए तुम्हें रात को रूकना पड़ेगा, रात्रि में उसने फिर जबरदस्ती बलात्कार किया।सुबह उसने कहा कि गांव में प्रोग्राम है, मुझे जाना है, सुबह छ: बजे उसने बीकानेर जाने वाली बस में बैठा दिया। 3 मार्च 2022 को शाम को पांच बजे के पश्चात् वह मेरे किराये के मकान में आया और मेरी इच्छा के विरूद्ध बलात्कार किया तथा कहा कि तेरे पास कोई विकल्प नहीं हैं, कहीं जबान खोलेगी तो जिन्दा नहीं बचेगी और यदि मेरे से सम्बन्ध बनाए रखेगी तो तुम्हारी किस्मत दिन दुगुनी रात चौगुनी चमका दूंगा। मेरे साथ हुई घटना को लेकर मैं काफी परेशान रहने लगी। मैं बहुत परेशान रहने लगी तथा सोचती रहती कि अब मैं जीऊ या मरू। आखिर 09.03.2022 को पुलिस थाना जयनारायण व्यास कॉलोनी गई। उसी समय रामनिवास का भाई रामस्वरूप थाने के बाहर आया, उसके साथ एक व्यक्ति और था। उसने मेरे से साईड में होकर बात की तथा कहा कि हमारी इज्जत का सवाल है, मुझे थाने से बाहर डराया धमकाया तथा रूपयों का लालच दिया और कहा कि मुकदमा मत करवा । उसने मेरे मोबाईल के लिए रामस्वरूप से फोन करके उसी दिन सात बजे के करीब म्यूजियम ग्राउण्ड में बुलाया तथा अपने भाई की हरकतें बताने को कहा, उसने सारी बात सुनकर कहा कि रामनिवास बाहर है, उसके आने पर उसे समझा देगें। उसके पश्चात् तीन चार बार रामनिवास ने वॉटसअप कॉल किए तथा रामस्वरूप ने कई बार मोबाईल पर फोन किए। 10.03.2022 को 05.20 ए. एम. पर रामस्वरूप का फोन आया तथा कहा कि तेरे पापा मेरे साथ है, उनको लाए है इसलिए अम्बेडकर सर्किल आ जाओ, वहां बैठकर बात कर लेते हैं। मैं स्कूटी लेकर अम्बेडकर सर्किल गई, वहां 3-4 गाडियां खड़ी थी तथा करीब दस सादी वर्दी वालों एवम् एक महिला ने मुझे पकड़ लिया तथा सदर थाना में ले गए। थाने में दो घण्टे रुके तथा फिर मेरे कमरे में आए तथा कमरे में से वहां पड़ा सीसी टीवी कैमरा, चार्जर, कैमरा व मोबाईल फोन व आधार कार्ड ले लिए। फिर जसरासर थाने ले गए। मुझे वहां बताया गया कि तुमने दस लाख रूपये लिए हैं, इसका मुकदमा है। मैनें बताया कि रामनिवास ने किसी राकेश नाम से फोन पे करके कुछ रूपये भेजे थे तथा मुकदमा नहीं करवाने का कहता था। मैनें कोई दस लाख रूपये नहीं लिए। अत: प्रार्थना पत्र पेश कर निवेदन है कि रामनिवास तर्ड पुत्र नथाराम जाति जाट सरपंच जसरासर के विरुद्ध बलात्कार का मुकदमा दर्ज करके उसे अभियोजित करवाया जावें ।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp