सावधान कहीं आपका बच्चा तो नहीं पढ़ रहा है इस कोचिंग संस्थान में - Khulasa Online सावधान कहीं आपका बच्चा तो नहीं पढ़ रहा है इस कोचिंग संस्थान में - Khulasa Online

सावधान कहीं आपका बच्चा तो नहीं पढ़ रहा है इस कोचिंग संस्थान में

सावधान कहीं आपका बच्चा तो नहीं पढ़ रहा है इस कोचिंग संस्थान में

बीकानेर। पुलिस की ओर से एसआई भर्ती, 2021 में नकल गिरोह के 10 अभियुक्तों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट पेश की गई, लेकिन उनमें सरगना तुलसाराम कालेर और उसके भतीजे पौरव कालेर का जिक्र ही नहीं है, जबकि राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने दोनों को मुख्य अभियुक्त मानकर गिरफ्तार किया है। इससे बीकानेर पुलिस के तत्कालीन उच्च अधिकारी और अनुसंधान अधिकारी जांच के घेरे में आ गए हैं। रामपुरा बस्ती में रामसहाय आदर्श सेकंडरी स्कूल के प्रिंसिपल व सचिव दिनेशसिंह चौहान ने 13 सितंबर को मोबाइल से दोनों पारी के पेपर की फोटो खींची और अतिरिक्त वीक्षक राजाराम बिश्नोई ने उसे गिरोह के सदस्यों के जरिये अभ्यर्थियों तक पहुंचाया था। पुलिस ने इस मामले में 10 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया था और दो नाबालिग भी निरुद्ध किए थे। पुलिस ने इस मामले की गंभीरता से और सही जांच ही नहीं की। केवल पेपर की फोटो खींचने वाले प्रिंसिपल और वाट्सअप से गिरोह के लोगों को भेजने वाले राजाराम वीक्षक सहित पेपर सॉल्व कराते और पाली में पकड़े आठ अन्य को ही अभियुक्त मानकर 18 नवंबर, 21 को कोर्ट में चार्जशीट पेश कर दी। नकल गिरोह के सरगनाओं और उनके द्वारा किंन-किंन अभ्यर्थियों को पेपर पहुंचाया गया, इसका पता लगाने की कोशिश ही नहीं की, या फिर जानबूझकर जल्दबाजी में फाइल कंप्लीट कर चार्जशीट पेश कर दी। जबकि, एसओजी ने अब एसआई भर्ती परीक्षा में नकल की परतें उधेड़ी तो सामने आया कि चूरू निवासी तुलसाराम कालेर और उसका भतीजा पौरव कालेर मुख्य सरगना थे। दोनों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है।

मैट्रिक्स कोचिंग संस्थान के संचालक ने गिरोह के सदस्यों के जरिये अभ्यर्थियों तक पहुंचाया
प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल दिनेशसिंह चौहान ने 13 सितंबर, 21 को दोनों पारियों के पेपर की मोबाइल से फोटो खींची। इसके लिए उसने मैट्रिक्स कोचिंग संस्थान संचालक और अतिरिक्त वीक्षक राजाराम के साथ मिलकर परीक्षा केन्द्र पर देरी से आने वाले स्टूडेंट के पेपर का लिफाफा खोला और पेपर की फोटो खींची। दोनों पारियों में ऐसा ही किया और हिन्दी व जीके का पेपर पौरव कालेर तक पहुंचा दिया। पाली में परीक्षा दे रहे राजेश बेनीवाल को नकल कराने के लिए वहां नरेन्द्र खीचड़ को पेपर भेजा गया। वहां की पुलिस ने दोनों को पकड़ा।

कर रहा भ्रामक प्रचार
अब भी मुक्ताप्रसाद रोड लालगढ़ में संचालित हो रहे मैट्रिक्स कोचिंग संस्थान के संचालक राजाराम बिश्नोई अलग-अलग तरह के भ्रामक प्रचार कर अभिभावकों को गुमराह कर रहा है और साथ ही राजाराम कोचिंग में आने वाले विद्यार्थियों को 100 फीसदी सलेक्शन का दावा कर रहा है। यह भी एक जांच का विषय है की इस तरह की कोचिंग पहले से ही संदेह के घेरे में है इसके बावजूद भी इनके ऊपर कोई ठोस कार्रवाई नहीं है। जबकि ऐसे संस्थानों को बंद करवा देना चाहिए। इस तरफ भी एक बार ध्यान देने की आवश्यकता है।

 

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26