बीकानेर / ड्रापआउट संभावना वाले बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा ‘आओ आगे पढ़े’ - Khulasa Online

बीकानेर / ड्रापआउट संभावना वाले बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा ‘आओ आगे पढ़े’

*शिक्षा विभाग से संबंधित विभिन्न बैठकें आयोजित* बीकानेर, 22 अप्रैल। जिले की सरकारी स्कूलों में पांचवीं, आठवीं और दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद विभिन्न कारणों से पढ़ाई छोड़ने वाले संभावित बच्चों का चिन्हीकरण करते हुए इन्हें पढ़ाई जारी रखने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके लिए जिले में ‘आओ आगे पढ़ें’ अभियान संचालित होगा। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने शुक्रवार को शिक्षा विभाग से संबंधित बैठकों के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गत सत्र में जिले के सरकारी और निजी स्कूलों से पांचवीं, आठवीं और दसवीं उत्तीर्ण करने के बाद लगभग 4 हजार बच्चे ड्रॉपआउट हो गए। इसके मद्देनजर हाल ही में प्रत्येक स्कूल में बच्चों के साथ प्रारम्भिक तौर पर किए गए सर्वे के अनुसार लगभग 1 हजार 320 बच्चे अगले सत्र में पढ़ाई जारी रखने को लेकर असमंजस में हैं। इनमें से एक भी बच्चा ड्रॉप आउट नहीं हो, इसे देखते हुए आगामी दस दिनों में जिले की सभी स्कूलों में सघन सर्वे करवाया जाएगा और ऐसे बच्चों का चिन्हीकरण करते हुए इनके अभिभावकों से संवाद किया जाएगा। जिला कलक्टर ने यह कार्य पूर्ण गंभीरता से करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि ऐसे सभी बच्चों का नाम, पता, कक्षा और स्कूल सहित आवश्यक जानकारी ‘आओ आगे बढ़े’ एप पर अपलोड करने के निर्देश दिए, जिससे दूसरे चरण में संबंधित उपखण्ड अधिकारी के माध्यम से ऐसे बच्चों के परिजनों को मॉटिवेट किया जा सके। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले के राजकीय विद्यालयों में पांचवी में 29 हजार 684, आठवीं में 26 हजार 617 और दसवीं में 24 हजार 306 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। सभी विद्यार्थियों का स्कूल वार सर्वे आगामी दस दिनों में करते हुए यह सुनिश्चित किए जाएंगे कि अगले सत्र में जिले का कोई बच्चा ड्रॉपआउट नहीं हो। *‘प्रोपर डाइट’ के लिए करेंगे प्रेरित* जिला कलक्टर ने बताया कि स्कूली बच्चे संतुलित और पोष्टिक आहार लें, जिसके मद्देनजर अभिभावकों को जागरुक किया जाएगा। इसके लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के माध्यम प्रोपर ‘डाइट चार्ट’ तैयार करते हुए प्रत्येक स्कूल तक भिजवाने के निर्दश दिए। उन्होंने प्रार्थना सभाओं के दौरान बच्चों को इसके लिए समझाइश करने के लिए भी कहा। स्कूली बच्चे गणित, विज्ञान सहित विभिन्न विषयों की जानकारी खेल-खेल में हासिल कर सकें, इसके मद्देनजर आगामी सत्र से बच्चों के सहयोग से टीचिंग लर्निंग मटेरियल (टीएलएम) बनवाने तथा इन्हें कक्षाओं में प्रदर्शित करने के लिए निर्देशित किया। *विभिन्न बिंदुओं पर हुई चर्चा* बैठक के दौरान स्कूलों में पोषाहार के लिए खाद्यान्न उठाव, कुक कम हैल्पर का भुगतान, इन्हें प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना से जोड़ने, भवन विहीन स्कूलों के लिए जमीन आवंटन प्रक्रिया करने, विद्युत कनेक्शन विहीन स्कूलों में कनेक्शन जारी करने, स्कूलों के ऊपर से निकलने वाली विद्युत लाइनों को अन्यत्र शिफ्ट करने, प्रत्येक सीबीइओ की देखरेख में पांच-पांच खेल मैदान विकसित करने, कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रखने, बालिकाओं के लिए प्रत्येक स्कूल में अलग से शौचालय बनवाना सुनिश्चित करने तथा इनके फंक्शनिंग करने, स्कूलों में चिरंजीवी योजना के प्रचार-प्रसार सहित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गईं इस दौरान मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. राजकुमार शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी (माशि) सुरेन्द्र सिंह भाटी, जिला शिक्षा अधिकारी (प्राशि) अनिल अग्रवाल, समसा के एडीपीसी हेतराम सारण सहित, विद्युत निगम के अधीक्षण अभियंता लाभ सिंह मान सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp